दैनिक भास्कर हिंदी: पुलिस की मिलीभगत से आरोपी ने थाने में खुद को मारी थी गोली - आरोप

June 12th, 2020

डिजिटल डेस्क जबलपुर। सिविल लाइन थाना परिसर में 9 जून को पूर्व फरार इनामी आरोपी द्वारा खुद को गोली मारने की घटना को लेकर विभाग में अब भी तरह-तरह की चर्चाएँ हैं। अधिकारी इस घटना को  गंभीर लापरवाही मान रहे हैं। उनका कहना है कि गिरफ्तारी के समय आरोपी की तलाशी लेकर पिस्टल जब्त क्यों नहीं की गयी। अब पूरी जाँच पिस्टल के इर्द-गिर्द घूम रही है। उधर मानव अधिकार आयोग सदस्य सरबजीत सिंह द्वारा एसपी से घटना का प्रतिवेदन माँगा गया है।
ज्ञात हो कि हनुमानताल थाना में एक मामले में फरार शुभम बागरी की गिरफ्तारी के लिए तीन हजार का इनाम घोषित किया गया था। फरार आरोपी की सूचना मिलने पर आईजी की साइबर टीम के पाँच सदस्यों ने उसे गिरफ्तार किया था और उससे हथियार की बरामदगी के लिए सिविल लाइन थाने लेकर पहुँचे थे और परिसर में आरोपी ने रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली थी। घटना की गंभीरता को देखते हुए न्यायिक जाँच के आदेश दिए गये थे। वहीं विभागीय स्तर पर एएसपी को जाँच सौंपी गयी थी। उनके द्वारा टीम के सदस्यों को नोटिस जारी कर जवाब माँगा गया है। उधर मृतक की बहन सोनम बागरी ने प्रकरण में गंभीर आरोप लगाते हुए हनुमानताल थाने में एक शिकायत देकर एक युवती के परिवार से पुलिस की मिलीभगत के कारण घटना होना बतातेे हुए एफआईआर दर्ज किए जाने की माँग की है।