दैनिक भास्कर हिंदी: जज की पत्नी और बेटे को गनमैन ने गोली मारी, इलाज के दौरान दोनों की मौत

October 14th, 2018

हाईलाइट

  • गुरुग्राम में अर्काडिया बाजार के पास सरेआम गनमैन ने ही जज की पत्नी और बेटे को गोली मार दी।
  • गोली मारने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया, जिसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया।
  • अस्पताल में इलाज के दौरान मां और बेटे की मौत हो गई।

डिजिटल डेस्क, गुरुग्राम। शहर के व्यस्तम इलाके सेक्टर 49 में अर्काडिया बाजार के पास सरेआम एक गनमैन (हेड कॉन्स्टेबल) ने जज की पत्नी और बेटे को गोली मार दी। गोली मारने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया, जिसे बाद में फरीदाबार रोड से गिरफ्तार कर लिया गया। घटना दोपहर 3.30 बजे के आसपास हुई जब बाजार में काफी लोग मौजूद थे। लोगों ने गोली की आवाज सुनी और मौके पर पहुंचकर पीड़ितों को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां मां-बेटे दोनों की  मौत हो गई। बता दें कि मां-बेटे दवाई खरीदने बाजार गए थे।

पूछताछ में आरोपी गनर महिपाल यादव (32) ने बताया कि छुट्टी नहीं मिलने से वह तनाव में था। गनर ने पुलिस को बताया कि ईसाई धर्म अपनाने के कारण जज की पत्नी उसे परेशान करती थी। महिपाल करीब दो साल से जज के साथ बतौर गनर तैनात था। बता दें कि आरोपी गनमैन खुद शनिवार को सरकारी वाहन से चीफ जूडिशल मजिस्ट्रेट श्रीकांत शर्मा की पत्नी रितु और बेटे ध्रुव को बाजार लेकर आया था। यहां कुछ ऐसा हुआ कि आरोपी ने बंदूक निकाली और मां-बेटे को गोली मार दी। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार भी हो गया, जिसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने पहचान उजागर करते हुए आरोपी का नाम महिपाल यादव बताया है, जो करीब दो साल से जज के यहां पदस्थ है। वारदात का एक वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि गोली मारने के बाद आरोपी किस तरह घायल युवक को कार में डालने की कोशिश कर रहा है। अपनी कोशिश में नाकाम होने के बाद आरोपी राइफल और कार लेकर फरार हो जाता है।

थाने में पुलिस अधिकारियों पर तानी बंदूक
मौके से भागने के बाद आरोपी सदर पुलिस थाने पहुंचा और उसने यहां मौजूद अधिकारियों पर बंदूक तान दी। इसके बाद थाने में मौजूद SHO ने उसे रोकने का प्रयास किया। इसके बावजूद आरोपी महिपाल थाने से भी भागने में कामयाब हो गया। हालांकि बाद में आरोपी को फरीदाबाद रोड से गिरफ्तार कर लिया गया।

गुरुग्राम पुलिस के पीआरओ सुभाष बोकान ने बताया कि 32 वर्षीय आरोपी महिपाल से मामले को लेकर पूछताछ की जा रही है। जबकि डीसीपी-ईस्ट सुलोचना गजराय ने जानकारी देते हुए बताया कि मां और बेटे दोनों की हालत नाजुक बनी हुई थी और फिर इलाज के दौरान ही दोनों ने दम तोड़ दिया। पुलिस कमिश्नर केके राव ने कहा कि घटना की मुख्य वजह का पता लगाया जा रहा है। फिलहाल आरोपी महिपाल डिप्रेशन में है। उसे कुछ मानसिक परेशानी है।