दुल्हन का अनोखा अंदाज: बिहार में दूल्हे को लेने बारात संग घोड़े पर सवार होकर पहुंची एयरहोस्टेस दुल्हन

December 15th, 2021

हाईलाइट

  • बिहार : दूल्हे को लेने बारात संग घोड़े पर सवार होकर पहुंची एयरहोस्टेस दुल्हन

डिजिटल डेस्क, बिहार। अब तक आपने दूल्हे को घोड़ी पर चढ़कर बारात के साथ अपनी दुल्हन को लाने के लिए जाते देखा और सुना होगा, लेकिन बिहार के गया में मंगलवार की शाम एक अनोखा मामला देखने को मिला जब सजी धजी, हाथ में मेंहदी लगाए दुल्हन घोड़े पर सवार होकर बारात के संग अपने दूल्हे को लेने उसके दरवाजे तक पहुंच गई। अब इस शादी की चर्चा हो रही है।

दरअसल, गया शहर के चांदचैरा की रहने वाली दुल्हनिया अनुष्का गुहा की शादी पश्चिम बंगाल के कोलकाता के रहने वाले जीत मुखर्जी से हुई।

चांदचैरा स्थित सिजुआर भवन धर्मशाला से दुल्हनिया घोड़े पर सवार होकर बड़े शान से अपने दूल्हे राजा को लेने उसके होटल पहुंची और वहां दुल्हन और बारात का सवागत दूल्हे परिजनों द्वारा किया गया। बारात में शामिल महिलाएं झूम रही थी। इस नायाब बारात को देखने के लिए आसपास के लोग भी सड़क पर निकल गए।

बारात का स्वागत करने के बाद दूल्हा कार में सवार होकर दुल्हन के पीछे-पीछे जयमाला स्टेज तक गया। इस दौरान दोनों पक्षों के लोग भी शामिल थे।

घोड़ी पर सवार होकर बारात निकालने वाली दुल्हनिया अनुष्का कोलकाता में इंडिगो एयरलाइंस में एयर होस्टेस के पद पर कार्यरत है।

इस अनोखी बारात को लेकर जब अनुष्का से सवाल पूछा गया तो दुल्हनिया ने कहा, आज भी लड़के और लड़कियों में भेदभाव किया जाता है, लड़कियों को लड़कों के बराबर लाने के लिए ऐसी मुहिम की बेहद जरूरत है। इसे एक बदलाव के रूप में देखा जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि लड़के ही बारात लेकर अपनी दुल्हन को लेने क्यों जाएंगें, दुल्हन भी ऐसा क्यों नहीं कर सकती।

अनुष्का से शादी रचाने वाले दूल्हे जीत मुखर्जी ने भी कहा कि इस तरह के काम से समाज मे एक अच्छा संदेश जाता है। उन्होंने कहा कि हम दूसरों से सुधरने की उम्मीद तो करते हैं लेकिन खुद वही गलती करते हैं। इसलिए परिवर्तन खुद से प्रारंभ करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज लड़कियां पुरूषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चलती हैं, तो इसमें बुराई क्या है।

दुल्हे के पिता रूदल फरेरा भी बेटे और बहू के इस कदम की तारीफ करते हैं। उन्होंने कहा कि यह बहुत अच्छा कदम है। उन्होंने कहा कि किसी भी उम्र के लोगों को अगर इस कदम के विषय में समझाया जाए तो वे भी समझ जाएंगे कि कहीं इसमें गलती नहीं है। दुनिया अब इस दिशा में आगे चल रही है।

इधर, दुल्हन की मां सुष्मिता भी बताती हैं कि प्रारंभ में अनुष्का ने इस आइडिया को लेकर पूछा था। उन्होंने बताया कि बेटी के इस आइडिया पर दामाद का भी सहयोग मिला। उन्होंने इस विवाह पर खुशी जताते हुए कहा कि पूरा परिवार इस अनोखे विवाह को लेकर उत्साहित था। अब तो हमारे सभी परिवार वाले भी अपने बेटे, बेटी की शादी इस अनोखे तरीके से करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि इसे समाज में एक बदलाव के रूप में देखना चाहिए।

 

आईएएनएस