दैनिक भास्कर हिंदी: बबुली कोल गिरोह का इनामी डकैत गिरफ्तार, कर रहा था नया गैंग खड़ा करने की तैयारी

September 9th, 2020

फारेस्ट के रिटायर्ड एसडीओ समेत तीन के अपहरण, लूट और मुठभेड़ में 2 साल से थी तलाश 
डिजिटल डेस्कसतना।
मझगवां पुलिस ने 2 साल से वांछित बबुली कोल गिरोह के इनामी डकैत को मिचकुरिन घाटी में घेराबंदी कर पकड़ लिया। बदमाश के कब्जे से राइफल के सात कारतूस जब्त किए गए हैं। उसकी तलाश एमपी के साथ-साथ यूपी पुलिस भी कर रही थी। जानकारी के मुताबिक थाना प्रभारी ओपी सिंह को मुखबिर से खबर मिली कि बीते साल मुठभेड़ में मार गिराए गए अन्तरराज्यीय गैंग लीडर बबुली कोल का साथी हेमराज उर्फ दद्दू कोल पुत्र बाबाजान कोल 27 वर्ष निवासी बड़ा कोलान थाना मारकुंडी,जिला चित्रकूट (उत्तरप्रदेश) चोरी छिपे घर जा रहा है,तब मंगलवार शाम को मिचकुरिन घाटी मोड़ पर घेराबंदी कर डकैत को पकड़ लिया गया। उसके कब्जे से 12 बोर की देशी बंदूक और 7 जिंदा कारतूस भी जब्त किए गए। 
2 साल पहले बगदरा घाटी में मचाया था आतंक 
पकड़े गए डकैत ने बबुली गिरोह के साथ मिलकर 24 अक्टूबर 18 को बगदरा घाटी से वन विभाग के रिटायर्ड एसडीओ और उनके 2 साथियों को अगवा करने के अलावा,सड़क निर्माण में लगे मजदूरों तथा आने-जाने वाले वाहनों को रोककर लूटपाट किया था। तब डकैत के खिलाफ मझगवां थाने में तीन अपराध पंजीबद्ध किए गए थे, जिनमें उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस अधीक्षक ने 10 हजार का इनाम घोषित किया था। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद 25/27 आम्र्स एक्ट और 11/13 एडी एक्ट के तहत कायमी की गई। 
यूपी में भी था वांटेड 
डकैत दद्दू ने बबुली गिरोह में रहने के दौरान यूपी पुलिस के साथ करौहा और लखनपुर के जंगल में आमने-सामने की मुठभेड़ भी किया था। तब डकैत ने पुलिस पर गोलियां बरसाने के अलावा घायल सरगना और लवलेश को बचाने में अहम भूमिका निभाई थी। गैंग लीडर और उसके राइट हैंड लवलेश कोल के मारे जाने के बाद दददू जंगल छोड़कर झांसी भाग गया था। लॉकडाउन होने के कारण वह चोरी छिपे गांव आकर जंगल और घर में छिपकर रहने लगा था। वह कुछ समय से नया गिरोह खड़ा करने के लिए पुराने साथियों से संपर्क कर रहा था तो नए लोगों को भी जोडऩे की कोशिश कर रहा था। डकैत पर यूपी पुलिस ने भी इनाम घोषित किया था। 
ये रहे शामिल 
इनामी डकैत को पकडऩे में मझगवां थाना प्रभारी के साथ एएसआई आरडी सिंह, कप्तान सिंह,आरक्षक ईष्टदेव दीक्षित, राकेश कश्यप, अनुज सिंह, रणविजय सिंह, सीताराम रावत, शिवकुमार यादव, अर्पित त्रिवेदी और प्रदीप कुमार ने अहम भूमिका निभाई।
 

खबरें और भी हैं...