comScore

कटंगा में केंट की जमीन पर बने अवैध ड्यूप्लेक्सों पर चला बुल्डोजर, 3 हजार वर्गफीट पर था कब्जा

कटंगा में केंट की जमीन पर बने अवैध ड्यूप्लेक्सों पर चला बुल्डोजर, 3 हजार वर्गफीट पर था कब्जा

डिजिटल डेस्क  जबलपुर । कटंगा की बेशकीमती करीब 3 हजार वर्गफीट भूमि पर अवैध तरीके से बन रहे दो ड्यूप्लेक्सों को आखिरकार केन्ट बोर्ड के अमले ने गुरुवार को तोड़ दिया। जेसीबी जब अवैध निर्माण तोड़ रही थी तब ऐसा लगा जैसे केवल कांक्रीट ही नहीं वह गुरूर भी टूट रहा है जो रुपयों के दम पर उड़ान भर रहा था। इस गुरूर को टूटता देख केन्ट की गरीब जनता भारी खुश हुई क्योंिक उन्हें हमेशा ही इस बात का दु:ख होता है कि वे अपने घरों की मरम्मत भी कराते हैं तो आर्मी के साथ ही केन्ट बोर्ड का अमला पहुँच जाता है और काम रोक देता है। केन्ट बोर्ड की अवैध गुमटियों की ही तरह ये अवैध ड्यूप्लेक्स भी छावनी प्रशासन के लिए चुनौती बन गए थे। हालाँकि बोर्ड ने अभी अवैध निर्माण कार्य करने वालों और उन्हें प्रश्रय देने वाले अधिकारियों के लिए कोई कार्रवाई निर्धारित नहीं की है। 
कटंगा में जेडीए द्वारा विकसित की गई योजना क्रमांक 27 में पार्क के लिए खाली छोड़ी गई करीब 20 हजार वर्गफीट भूमि में से 3 हजार वर्गफीट भूमि पर अवैध तरीके से कब्जा कर दो ड्यूप्लेक्सों का निर्माण किया जा रहा था। लगातार शिकायत के बाद भी केन्ट बोर्ड के अधिकारी खामोश बैठे रहे क्योंिक इस निर्माण में केन्ट बोर्ड के सफाई ठेकेदारों के साथ ही पार्षद का नाम भी आ रहा था। इस मामले में जबलपुर विकास प्राधिकरण ने पहल की और केन्ट बोर्ड को पत्र लिखा कि जिस जमीन पर अवैध निर्माण हो रहा है वह जमीन केन्ट को हस्तांतरित हो गई है इसलिए अब मालिकाना हक केन्ट बोर्ड का और वहाँ जो भी अवैध निर्माण हो रहा है उसे रोका जाए। इसके बाद हरकत में आए केन्ट बोर्ड ने 3 जून को सफाई ठेकेदार विनोद सविता को नोटिस जारी किया था कि जो भी अवैध निर्माण किया जा रहा है उसे 10 दिनों के अंदर तोड़ दिया जाए वरना केन्ट बोर्ड खुद ही निर्माण तोड़ेगा और हर्जाना भी वसूल करेगा। 

कमेंट करें
aRWUc