ये मौसम की बारिश: मुक्ताई वाटरफॉल में दिखा उत्सव सा नजारा, रिमझिम फुहार में झूमे युवा

July 11th, 2022

डिजिटल डेस्क, चंद्रपुर। ये मौसम की बारिश, ये बारिश का पानी, ये पानी की बूंदें...! हर युवा मानो मानसून की खुशियां अलग ही अंदाज में मना रहा हो। कुछ इसी तरह का मनमौजी उत्सव, चिमूर तहसील के मुक्ताई वाटरफॉल में दिखाई दिया, जहां युवा वाटरफॉल का आनंंद लेते दिखाई दिए, वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें बरसाती पानी से बना झरना आकर्षण का खास केन्द्र दिख रहा है, युवा रिमझिम पानी में बारिश का उत्सव मनाते दिखाई दिए। भीड़ देखकर दंग रह जाएंगे, लगेगा की किसी जाने-माने हिल स्टेशन पर पहुंच गए हों।

Muktai Waterfall, Doma - Water Parks in Chandrapur - Justdial

यहां मुक्ताई माता का मंदिर भी है, माता को समाज के लोग आराध्य मानते हैं, बरसात के इसी सीजन में गांव, तहसील, जिला और अन्य राज्यों से लोग दर्शन करने आते हैं

विदर्भ की चिलचिलाती गर्मी के बाद अब बारिश की ठंडक ने हर किसी को झूमने के लिए मजबूर कर दिया है। शुरुआती बारिश का अपना ही मजा होता है, बच्चे आंगन में रिमझिम फुहार में शावर का मजा लेते हैं। खासकर पहली बारिश से उठती मिट्‌टी की खुशबू किसे पसंद नहीं होती।     

5 Things you must do when you head to Mahabaleshwar to beat the heat! |  India.com

यू तो देश में मानसून का एक पैटर्न है। संतुलित साइकिल की वजह से जून और जुलाई में भारी बारसात होती है। खासकर महाराष्ट्र की बात करें, तो महाबलेश्वर बरसात के मामले में पीछे नहीं है। वेस्टर्न घाट के पास होने की वजह से यहां हर साल 5,618 मिलीमीटर तक बारिश होती है। जो वीकेंड एन्जॉय करने के लिए परफेक्ट प्लेस है। हरियाली के अलावा पौराणिक कथाओं से जुड़े मंदिर और वीना झील, आर्थर प्वॉइंट दर्शकों को खूब लुभाते हैं।

कोंकण अंबोली यात्रा, (Konkan, Amboli ghat) Beautiful places in India -  Media Hindustan

इसी तरह अंबोली भी बरसात के मौसम में ज्यादा आकर्षक हो जाता है कि यहां जन्नत जैसा नजारा दिखता है। वेस्टर्न घाट के छोर पर स्थित होने के कारण अच्छी बारिश होती है। घने जंगल और शानदार वाटरफॉल देखने लायक हैं।

वाटरफॉल में हमेशा सावधानी बरतें

हादसे से बचने के लिए वॉटरफॉल के आस-पास प्रशासनिक बोर्ड्स जरूर पढ़ें, जिन पर चेतावनी लिखी होती हैं। कई लोग इन्‍हें पढ़ना जरूरी नहीं समझते, अनदेखा कर देते हैं। मगर ऐसा करना खतरनाक साबित हो सकता है।

Travel: कोंकण में सुंदर अंबोली की यात्रा करना न भूलेंसेल्‍फी लेना खरतनाक ट्रेंड बन चुका है। प्राकृतिक खूबसूरती को कैमरे में कैद करने के चक्कर में वॉटर फॉल के आसपास अपनी जान खतरे में न डालें। 

प्रतिबंध के बावजूद हजारों की संख्या में नियम तोड़ अंबोली, पालघर और  त्र्यंबकेश्वर पहुंचे पर्यटक, सैकड़ों लोगों पर दर्ज हुआ केस | Maharashtra  Fight Coronavirus; Several Tourist Spotted In Trimbakeshwar Palghar Amboli,  Case Registered - Dainik Bhaskar

सही फुटवेयर का इस्तेमाल करें 

वॉटरफॉल के आसपास फिसलन हो जाती है। पैरों पर बैलेंस बनाना जरूरी है, ऐसे फुटवेयर पहनने चाहिए जो पैरों की ग्रिप सही रखें। लांग हील्‍स भूल कर भी नहीं पहनें, फिसलने वाली चप्‍पल का उपयोग न करें।