दैनिक भास्कर हिंदी: जिला अस्पताल पहुंचे कलेक्टर, थमाया नोटिस, निरीक्षण से मचा हड़कंप

May 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। जिला अस्पताल में शाम की ओपीडी से गायब दस डॉक्टरों को नोटिस जारी करने और कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटने के आदेश कलेक्टर भरत यादव ने दिए हैं। शनिवार को जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचे कलेक्टर ने आरएमओ कक्ष में रखे उपस्थिति रजिस्टर देखे। उपस्थिति रजिस्टर में अधिकांश चिकित्सकों के हस्ताक्षर नहीं मिले। उनके नाम के सामने स्वयं कलेक्टर ने गैर हाजिरी लगाई और नोटिस जारी करने सिविल सर्जन को निर्देश दिए। इसके अलावा ओपीडी टाइमिंग से नदारद कर्मचारियों के वेतन काटने के निर्देश दिए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि कलेक्टर भरत यादव ने ओपीडी स्थित चिकित्सकों से मरीजों की जानकारी ली। इसके अलावा वार्ड का निरीक्षण करते हुए उन्होंने शौचालयों की गंदगी देखकर प्रबंधन के अधिकारियों पर नाराजगी जाहिर की और सफाई कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटने कहा है। वार्ड में भर्ती मरीजों से मुलाकात कर उन्होंने अस्पताल से मिलने वाली सुविधाओं के संबंध में पूछा। तब मरीजों ने ब्लड जांच निजी लैब से कराने की बात कही। जिस पर कलेक्टर ने निजी क्लीनिक से ब्लड जांच कराने वाले मेडिकल डॉक्टर को नोटिस जारी करने निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर भरत यादव के साथ नगर निगम कमिश्नर इच्छित गढपाले, सीएस डॉ. सुशील राठी, आरएमओ डॉ.सुशील दुबे समेत अन्य चिकित्सक उपस्थित थे।

चौबीस घंटे में करें पानी की व्यवस्था-
अस्पताल में भर्ती मरीज और परिजनों ने पेयजल की समस्या कलेक्टर के सामने रखी। जिस पर उन्होंने प्रबंधन को अगले चौबीस घंटे में पानी की व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही नए वॉटर कूलर खरीदने और पुराने के सुधार कार्य कराने की हिदायत दी।

800 रुपए में कराई जांच-
अस्पताल में भर्ती थुनिया थावड़ी निवासी राहुल पिता रामस्वरुप कनोजिया के परिजनों ने कलेक्टर को बताया कि 800 रुपए देकर ब्लड की जांच कराई है। जिस पर कलेक्टर ने मेडिकल कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ.ज्योति नागवंशी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं।

नहीं मिली पैथालॉजिस्ट, ब्लड जांचें भी बंद-
निरीक्षण के दौरान कलेक्टर भरत यादव पैथालॉजी लैब पहुंचे। यहां पैथालॉजिस्ट नहीं मिली। अस्पताल में होने वाली 48 जांचों में आठ प्रकार की जांच बंद थी। जिसे तुरंत शुरू करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए है। इसके अलावा जांच किट उपलब्ध कराने और खराब मशीनें शुरू कराने कहा है।

ब्लड डोनेशन को दे बढ़ावा-
अस्पताल में ब्लड की कमी पर कलेक्टर भरत यादव ने ब्लड डोनेशन के लिए डाटाबेस तैयार करने कहा। इसके लिए उन्होंने फेसबुक पेज, वाट्सएप ग्रुप और ब्लड कैलेंडर बनाने के निर्देश दिए है ताकि ब्लड डोनेशन को बढ़ावा मिल सके।