दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना : बगैर दर्शकों के हो सकता है आईपीएल, सरकार सतर्क, मुख्यमंत्री ने कहा- घबराने की जरुरत नहीं 

March 11th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र मे भी कोरोना वायरस के पॉजिटीव मरीज पाए जाने के बाद बुधवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विधानभवन में मंत्रियों-अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान आगामी 29 मार्च से शुरु होने वाली आईपीएल क्रिकेट प्रतियोगिता रद्द करने की बाबत चर्चा हुई। हालांकि इस बारे में अभी अंतिम फैसला नहीं हो पाया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि कोरोना को लेकर लोगों को घबराने की जरुरत नहीं है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस कोविड-19 के 5 मामलों की पुष्टि के बाद राज्य सरकार ने राज्य में सतर्कता बढ़ा दी गई है। पुणे में पाया गया मरीज दुबई से लौटा था। बैठक में कोरोना वायरस को फैसले से रोकने के लिए बैठक में चर्चा हुई। बैठक में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि आईपीएल मैच बगैर दर्शकों के स्टेडियम में आयोजित किया जा सकता है। लोग स्टेडिएम में मैच देखने की बजाय टीवी पर देखे। साथ ही पहली से नौवी तक के बच्चों के स्कूल की छुट्टी करने पर भी विचार किया जा रहा है। बैठक में विवाद आदि समारोहों में भीड़-भाड़ टालने की बाबत भी चर्चा हुई। इस बीच विधानमंडल के बजट सत्र में भीड़-भाड़ कम करने के लिए विधानभवन में प्रवेश के लिए पास जारी करना बंद कर दिया गया है। स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कोरोना को लेकर मेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक जिले में आईसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है।   

निजी अस्पतालों में भी तैयारी

महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए यहां निजी अस्पतालों में पृथक वार्ड और इस विषाणु के संबंध में जांच करने वाले केंद्र बनाने की योजना बनाई है। मुंबई में निजी अस्पतालों के प्रतिनिधियों ने राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उपमुख्यमंत्री अजित पवार, स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे और वरिष्ठ मंत्रियों से मुलाकात की। बैठक में मौजूद एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राज्य सरकार ने मुंबई के अस्पतालों में अलग वार्ड और निजी जांच केंद्र स्थापित करने समेत कई मोर्चों पर काम करने और केंद्र से इसके लिए मान्यता लेने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने खासकर मुंबई में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डों पर जांच केंद्र में सुधार की योजना बनाई है। इसके अलावा चिकित्सकों एवं नर्सों को भी मानक उपचार प्रक्रियाओं के बारे में प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि मरीजों को अन्य संक्रमणों से मुक्त रखा जा सके। छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर जांच सुविधाओं के बारे में पूछे जाने पर अधिकारी ने कहा, ‘‘मौजूदा जांच सुविधा के आधुनिकीकरण की आवश्यकता है। हमें और कर्मियों को तैनात करने और प्रक्रिया में सुधार करने की जरूरत है। 

विपक्ष मदद को तैयार: फडणवीस

पूर्व मुख्यमंत्री व विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेन्द्र फडणवीस ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस से निपटने में विपक्ष राज्य सरकार की मदद करेगा। भाजपा नेता ने लोगों को वायरस को लेकर चिंतित ना होने की जरूरत पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के मद्देनजर हम सबको सतर्क रहने की जरूरत है। लेकिन इसके साथ ही यह सुनिश्चित करने की भी जरूरत है कि तनाव उत्पन्न ना हो। विपक्ष इस संबंध में सरकार की मदद करेगा। 

दुबई से लौटा यात्री कोरोना ग्रस्त

इसके पहले मंगलवार को पुणे में दुबई से लौटे दो लोगों में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनके साथ यात्रा करने वालों की खोजबीन कर उन्हें भी विशेष कक्ष में भर्ती किया गया है।

‘नाथ षष्ठी यात्रा’ स्थगित

इस बीच औरंगाबाद जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस के मद्देनजर पैठण शहर में वार्षिक ‘नाथ षष्ठी यात्रा’ को स्थगित कर दिया है। महाराष्ट्र का पैठण शहर मराठी संत एकनाथ का गृह स्थल है। हर वर्ष पैठण यात्रा के समय लोग यहां उनके मंदिर के दर्शन करने आते हैं। यह वार्षिक यात्रा इस साल 14 से 18 मार्च के बीच होनी थी। हर वर्ष इस यात्रा के दौरान यहां करीब पांच लाख श्रद्धालु आते हैं।