दैनिक भास्कर हिंदी: सबसे कम 15 और ज्यादा 25 दिन के इलाज में स्वस्थ हुए कोरोना के मरीज

May 4th, 2020

 
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
आम धारणा थी कि अस्पताल में 14 दिन के इलाज के बाद मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हो जाता है, लेकिन यहाँ कोविड-19 अस्पताल सुपर स्पेशिएलिटी में स्वस्थ होने का समय बढ़ रहा है। यहाँ से अभी तक 12 मरीज ठीक होकर जा चुके हैं, जिनमें सिर्फ 4 मरीज ही ऐसे हैं जिनको 16वें दिन छुट्टी मिली। यहाँ एक 54 वर्षीय कोरोना संक्रमित मरीज तो पिछले 36 दिन से भर्ती हैं, लेकिन वे इससे मुक्त नहीं हो सके हैं। पाँच मरीज 20 या उससे अधिक दिनों में स्वस्थ हुए वहीं बाकी को इसके लिए 16 और 17 दिन लगे। रविवार को सराफा दरहाई स्थित राठौर परिवार के दो और सदस्यों को छुट्टी मिली, इनमें परिवार के पहले संक्रमित सुशील राठौर की बेटी दिशा व भाभी अनीता हैं। राठौर परिवार सेे जुड़े 14 पॉजिटिव में ये पहले दो हैं जोकि कोरोना से जीते हैं। 
ऐसा माना जा रहा है कि वायरस के नेचर में कुछ बदलाव के कारण यह स्थिति बनी है। महीने भर से ज्यादा समय बीतने के बाद भी बिना लक्षण हुए संक्रमण का पता लगना भी इसी से जोड़कर देखा जा रहा है। सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल में भर्ती प्रभुदयाल (54) सबसे ज्यादा समय बिताने के बाद भी संक्रमण मुक्त नहीं हुए हैं। सराफा व्यापारी मुकेश अग्रवाल के कर्मचारी रहे प्रभुदयाल 27 मार्च को संक्रमित पाए गए थे, तब से वे यहाँ इलाजरत हैं। करीब 36 दिन बीतने के बाद भी वे पूरी तरह से इंफेक्शन फ्री नहीं हो सके हैं। इनके अलावा दो और मरीज ऐसे हैं, जो अधिक समय होने के बाद भी संक्रमित हैं। 12 अप्रैल को संक्रमित मिले सराफा निवासी सुरेंद्र सोनी (70) 21 दिन और 15 अप्रैल को पॉजिटिव आए यहीं के सुशील राठौर (50) 18 दिन बीतने के बाद भी अभी पूरे स्वस्थ नहीं हुए हैं।