दैनिक भास्कर हिंदी: युवक व युवती की हत्या करने वाले मुख्य आरोपी स्कूल संचालक पर अपराध दर्ज , नौकरी छोड़ देने से था मृतका से खफा

January 19th, 2021

एसपी ने घोषित किया 10 हजार का इनाम, गिरफ्तारी के लिए बनाई 5 टीम
डिजिटल डेस्क सतना।
चित्रकूट के रजौला बाईपास में रविवार दोपहर को गोली मारकर  35 वर्षीय अनुज दीक्षित पुत्र श्याम दीक्षित 35 वर्ष निवासी हमीरपुर-उत्तरप्रदेश  और प्रिया सिंह पुत्री पुष्पेन्द्र सिंह परिहार 24 वर्ष निवासी घोरहटी थाना नागौद हाल विराट नगर की गोली मारकर हत्या करने के आरोप में नयागांव पुलिस ने स्कूल संचालक पुष्पराज सिंह श्रीनेत के खिलाफ धारा 302 का अपराध पंजीबद्ध कर लिया है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस कप्तान धर्मवीर सिंह ने 10 हजार का इनाम घोषित करने के साथ ही 5 टीमें बना दी हैं, जिन्हें प्रयागराज, कर्वी, रीवा की तरफ भेजा गया है। इसी के साथ आरोपी की सम्पत्ति और बैंक खातों की जानकारी जुटाने के लिए भी टीमें लगा दी गई हैं। प्रारंभिक तौर पर आरोपी के स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक और इंडियन बैंक में संचालित 3 खाते सीज कर दिए गए हैं। वहीं हत्या में इस्तेमाल की गई लाइसेंसी राइफल और कुछ सामान चित्रकूट में आरोपी के करीबी रिश्तेदार के घर से बरामद कर लिया गया है। पुलिस के मुताबिक रविवार रात को आरोपी ने बंदूक व सामान यह कहकर परिचित के पास छोड़ दिया था कि जरूरी काम से बाहर जाना है, वापस आने पर ले जाउंगा। मगर जैसे ही डबल मर्डर में उसका नाम सामने आया तो परिचित ने तुरंत पुलिस को सूचित कर दिया। आरोपी मूलत: उत्तरप्रदेश के चित्रकूट जिला अंतर्गत राजापुर के गांव का रहने वाला है जो करीब दो दशक से सतना में निवास कर रहा है।
चित्रकूट में युवक और सतना में युवती के शव का पीएम
इससे पूर्व सोमवार सुबह अनुज के शव का पोस्टमार्टम चित्रकूट के जानकीकुंड अस्पताल में डॉक्टर टीम से कराया गया, जिसके बाद परिजन लाश लेकर हमीरपुर चले गए। वहीं प्रिया का शव तकरीबन साढ़े 11 बजे जिला चिकित्सालय लाया गया, जहां वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. शैलेन्द्र स्वर्णकार की निगरानी में डॉ. अभिनव चौरसिया और डॉ. पूजा सिंह के द्वारा पीएम किया गया। दोनों ही जगह पुलिस ने वीडियोग्राफी भी कराई। युवक के हाथ में गोली लगी थी, जिसे जब्त किया गया। वहीं युवती के सीने में बाएं तरफ और दाएं कंधे के नीचे गोली लगी थीं। पीएम से पूर्व गोलियों का पता लगाने के लिए लाश का एक्स-रे कराया गया, जिसके बाद दो गोलियां निकाली गईं। दोपहर 1 बजे कार्रवाई पूरे होने पर परिवार के लोग शव लेकर विराट नगर चले गए, मगर अंतिम संस्कार नहीं हुआ। बताया गया है कि प्रिया का इकलौता भाई तीन दिन पहले ही परीक्षा के सिलसिले में आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा गया था जो इस घटना की खबर लगने पर सतना लौट रहा है। देर रात उसके आने पर मंगलवार को घोरहटी में अंतिम संस्कार किया जाएगा।
स्कूल छोडऩे के बाद भी कर रहा था परेशान
सेना से रिटायर हो चुके पिता ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उनकी बेटी पूर्व में पुष्पराज सिंह की स्कूल में पढ़ाती थी और जब मैहर में कॉलेज खुला तो वहां जाने लगी, मगर आरोपी की हरकतों से परेशान होकर लगभग डेढ़ वर्ष पूर्व पढ़ाना छोड़ चुकी थी। इसके बावजूद आरोपी पीछे पड़ा हुआ था। आरोपी और उसके गुंडे आते-जाते छीटाकसी करते थे तो किसी भी जगह जाने पर फोटो खींचकर पिता के मोबाइल पर भेजकर बदनाम करने का प्रयास करते थे। इतना ही नहीं वर्ष 2019 में आरोपी के जुड़वा नाबालिग बेटों ने किराएदार अनुज के साथ मारपीट की थी, जिसकी रिपोर्ट पत्नी के द्वारा दर्ज कराई गई थी। वहीं दिसम्बर 2020 में दोनों लड़कों ने दो अन्य के साथ मिलकर पुष्पेन्द्र सिंह के साथ मारपीट की थी। इसमें भी मुकदमा दर्ज कराया गया था, जिसमें सिविल लाइन पुलिस के द्वारा दोनों ही प्रकरणों में चालान पेश किया जा चुका है। हालांकि किसी में भी पुष्पराज का नाम नहीं था। 
क्या है मामला
गौरतलब है कि रविवार दोपहर को तकरीबन 3 बजे नयागांव थाना अंतर्गत रजौला बाईपास के नजदीक अल्टो कार क्रमांक सीजी 10 एई 8186 का पीछा करते हुए चार पहिया वाहन में सवार हमलावरों ने पहले फायर कर गाड़ी रूकवाने का प्रयास किया, मगर जब कार नहीं रूकी तो ओवरटेक करते हुए ड्राइवर साइड पर फायर किया और फिर गाड़ी सामने लगा दी। जिससे बचने की कोशिश में युवक ने कार सड़क से उतारी तो पलट गई। कार के दुर्घटनाग्रस्त होते ही अनुज ने बाहर निकलकर भागने की कोशिश की तो हाथ में गोली मारने के बाद चार पहिया वाहन से कुचल दिया, वहीं कार में फंसी युवती पर उसी हालत में दो गोलियां दाग दीं। वारदात के दौरान आसपास मौजूद चरवाहों ने एक व्यक्ति को बंदूक के साथ देखने की बात कही थी। जांच में यह पता चला कि रजौला से पहले सती अनुसुइया मोड़ और गुप्त गोदावरी मोड़ के पास भी हमलावरों की गाड़ी ने कार को रोकने का प्रयास किया था, मगर सफल नहीं हो पाए थे। बताया जा रहा है कि सतना से ही अनुज और प्रिया का पीछा किया जा रहा था, जिसका शायद उन्हें आभास हो गया था। लिहाजा गाड़ी को पूरी रफ्तार से भगा रहे थे। मौके से 30 बोर की राइफल के खाली खोके भी मिले हैं। मृतकों की शिनाख्त आधार कार्ड और परिचय पत्र से हुई थी। 24 वर्षीय प्रिया रविवार दोपहर लगभग साढ़े 12 बजे घर में कोचिंग जाने की बात कहकर निकल गई थी, तब पिता घर में नहीं थे। उन्हें घटना की जानकारी सिविल लाइन टीआई के द्वारा घर जाकर दी गई, तब वह चित्रकूट के लिए रवाना हुए थे।  
नक्शे के विपरीत स्कूल और भवन के निर्माण पर ननि की नोटिस
फरार आरोपी पुष्पराज सिंह की सम्पत्ति का ब्यौरा जुटाते हुए नगर निगम के अतिक्रमण दस्ते ने पुलिस के साथ मिलकर रविवार शाम को वार्ड क्रमांक-1 के विराट नगर में स्थित उसके मकान और स्कूल का निरीक्षण किया, जिसमें नक्शे के विपरीत निर्माण पाए जाने पर नोटिस देकर तीन दिन के भीतर जवाब प्रस्तुत करने का अल्टीमेटम दिया गया है। इस अवधि में संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर अवैध निर्माण को तोडऩे की बात कही गई है। गौरतलब है कि आरोपी का तीन मंजिला मकान बना है, जिसके ठीक सामने बने दो मंजिला भवन में स्कूल संचालित की जाती है। निरीक्षण करने गई टीम में अतिक्रमण दस्ता प्रभारी रमाकांत शुक्ला, सीएसपी विजय प्रताप सिंह, सिविल लाइन टीआई एसएम उपाध्याय शामिल थे। 
इनका कहना है-
दोहरे हत्याकांड में पुष्पराज सिंह के खिलाफ हत्या का अपराध दर्ज किया गया है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए 10 हजार का इनाम घोषित करने के साथ ही 5 टीमें बनाई गई हैं जिन्हें रीवा, कर्वी और प्रयागराज की तरफ भेजा गया है।
धर्मवीर सिंह, पुलिस अधीक्षक
 

खबरें और भी हैं...