comScore

रायफल के साथ पुलिस के हत्थे चढ़ी दस्यु सुंदरी साधना - था 40 हजार का इनाम 

रायफल के साथ पुलिस के हत्थे चढ़ी दस्यु सुंदरी साधना - था 40 हजार का इनाम 

 डिजिटल डेस्क सतना। तराई में 2 दशक तक आतंक का पर्याय रहे 6 लाख के इनामी गैंग लीडर बबुली और उसके डेढ़ लाख के इनामी राइट हैंड लवलेश कोल को मुठभेड़ में मार गिराने के 2 माह के अंदर रविवार को पुलिस ने मझगवां थाना क्षेत्र के कडियन मोड़ के जंगल में चौतरफा घेराबंदी करते हुए 40 हजार की इनामी और तराई की इकलौती दस्यु सुंदरी साधना पटेल को रायफल के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने बताया कि साधना को अदालत में पेश किया गया,जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में 2 दिसंबर तक  सेंट्रल जेल भेज दिया गया। उसके पास में 315 बोर की एक रायफल और एक बिनडोरिया बरामद कर जब्त की गई है। बिनडोरिया में 4 जिंदा कारतूस, 21 खाली खोखे थे। साधना के खिलाफ  फिरौती के लिए अपहरण,रंगदारी वसूलने और आम्र्स एक्ट के तहत जिले के नयागांव थाना और उत्तर प्रदेश की भरतकूप पुलिस चौकी में 3-3 अपराध दर्ज थे। 
 ऐसे आई पकड़ में 
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि लंबे अर्से से फरार रही 21 वर्षीया साधना पटेल उर्फ बेलनी पुत्री स्व. बुद्धि विलास निवासी बगहिया पुरवा थाना कर्वी जिला चित्रकूट (उत्तर प्रदेश) पर पुलिस की लगातार नजर थी। हाल ही में उसकी गिरफ्तारी के उसके दिल्ली एनसीआर और मऊरानीपुर (झांसी) स्थित संभावित ठिकानों पर दबिश दी गई थी। दबिश के दौरान साधना तो नहीं मिली,मगर पुलिस के हाथ कुछ अहम सुराग लगे। इन्हीं सुरागों के आधार पर एडीशनल एसपी गौतम सोलंकी और चित्रकूट के एसडीओपी वीपी सिंह के निर्देशन में पुलिस पार्टियों  का गठन करते हुए मुखबिरों के नेटवर्क को सक्रिय किया गया। इसी बीच मुखबिर से इस आशय की खबर मिली कि साधना पटेल अपने कुद साथियों के साथ मझगवां थाना क्षेत्र के कडियन मोड़ के जंगल में एक पुलिया के पास देखी गई है। वो किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की कोशिश में है। खबर पर पुलिस पार्टियों ने जंगल में चौतरफा घेराबंदी की अंतत: साधना को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस दल में शामिल एक महिला इंस्पेक्टर ने जब उसकी तलाशी ली तो उसके पास से एक रायफल के अलावा 4 जिंदा कारतूस बरामद कर जब्त किए गए।   
इन्होंने निभाई अहम भूमिका 
 एसपी रियाज इकबाल ने बताया कि तराई में सक्रिय इकलौती महिला डकैत क की गिरफ्तारी में मझगवां के थाना प्रभारी ओम प्रकाश चोगड़े, कोटर के थाना इंजार्च गोपाल चौबे, सिंहपुर के थानेदार सुधांशु तिवारी, महिला थाने की प्रभारी राजश्री रोहित ,सायबर सेल के सब इंस्पेक्टर अजीत सिंह, सब इंस्पेक्टर चक्रधर प्रजापति, कप्तान सिंह, प्रधान आरक्षक आरके पटेल, दीपेश, राजेश सिंह, लाखन पंडा , आरक्षक रमाकांत तिवारी, अरविंद ङ्क्षसह, जगदीश मीणा, अभिषेक पांडेय , वीपेन्द्र मिश्रा,  राहुल सिंह, अमित यादव , राकेश कश्यप, असलेन्द्र सिंह और अंकिता सिंह ने महत्वर्पूण भूमिका निभाई।  
 एक माह में पकड़े गए 6 डाकू 
एसपी रियाज इकबाल ने बताया कि तराई में डकैतों के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत एक माह में 6 डकैतों को गिरफ्तार किया गया है।   इनमें से 10 हजार का इनामी रवि उर्फ रिंकू शिवहरे, इतने का ही इनामी और रिंकू का बड़ा भाई दीपक शिवहरे पहले ही नयागांव पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं। ये दोनों साधना गिरोह के सदस्य थे। इसी तरह बबुली गिरोह के 15 हजार के इनामी डकैत शिवमूरत कोल और 5 हजार के इनामी धन्नू उर्फ धनपत खैरवार को मझगवां पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। उन्होंने बताया कि 5 हजार का इनामी दादू सिंह उर्फ पट्टीदार सिंह को बरौंधा पुलिस बंदी बना चुकी है। 
 

कमेंट करें
MFRmJ