दैनिक भास्कर हिंदी: जीसीएफ की आग में चर्चाओं ने डाला घी -मामला रिकार्ड जलने का

October 26th, 2019

डिजिटल डेस्क जबलपुर। जीसीएफ के ऑर्डनेंस डेवलपमेंट सेंटर में गुरुवार की रात करीब दस बजे लगी आग के मामले में पूरे दिन निर्माणी में चर्चाओं का दौर जारी रहा। एक ओर कर्मचारी भारी नुकसान एवं जरूरी कागजात जल जाने की बातें कह रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर मामले में प्रशासन ने किसी भी साजिश से पूरी तरह से इनकार कर दिया। प्रशासन का कहना है कि नुकसान भी ज्यादा नहीं हुआ है। जो भी कागजात जले हैं वे इतने जरूरी नहीं थे जिस पर चिंता व्यक्त की जा सके। 
बिजली बंद थी
कर्मचारियों का कहना कि जब एडमिन ब्लॉक की बिजली बंद कर दी गई थी, तो शॉर्ट सर्किट से आग कैसे लग सकती है। वहीं उनका यह भी कहना है कि आग में धनुष तोप के अपग्रेडेशन की फाइलें जली हैं। इसके अलावा वहाँ लगे कम्प्यूटर भी जल गए हैं। धनुष तोप के बेयरिंग का मामला भी एससी खटुआ की मौत से जुड़ा होने के कारण एक बार फिर से खटुआ की मौत का मामला सामने आ गया है। 
 कमेटी ने की जाँच
आग में फर्नीचर, कम्प्यूटर, कमरे की सीलिंग के साथ-साथ कागजात जले हैं। इस मामले में गठित कमेटी ने आज दौरा कर इस बात की जानकारी ली है कि क्या-क्या जला है। इसके अलावा आग किस वजह से लगी है उसकी भी जानकारी लेने का प्रयास किया गया है। इस बात का भी पता लगाया जा रहा है कि फायर ब्रिगेड का चालक घटना के समय क्यों नहीं वाहन के पास उपस्थित था। 
जल्द मिलेगी रिपोर्ट 
इस मामले में कमेटी को जीएम रजनीश जौहरी ने निर्देश दिये हैं कि आग लगने का कारण एवं नुकसान की रिपोर्ट जल्द से जल्द दी जाये। उम्मीद की जा रही है कि 24 घंटे के अंदर जाँच रिपोर्ट मिल जायेगी। प्रारंभिक जाँच में बहुत ज्यादा नुकसान नहीं होने की बात सामने आई है। 
-संजय श्रीवास्तव, पीआरओ, जीसीएफ
 

खबरें और भी हैं...