दैनिक भास्कर हिंदी: डोअर-टू-डोअर मनपा करेगी कचरा संकलन , 15 नवंबर से होगा शुभारंभ

November 9th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में कचरा संकलन का काम दोनों नई एजेंसियां 15 नवंबर से शुरू करेंगी। शहर कचरा मुक्त करने के उद्देश्य से कुछ मूलभूत परिवर्तन किए गए हैं। अब डोअर-टू-डोअर कचरा संकलन किया जाएगा। नागरिकों को गीला-सूखा कचरा खुद अलग-अलग कर देना होगा। बिना अलग किए कचरा संकलन नहीं िकया जाएगा। उस कचरे को नष्ट करने की जिम्मेदारी संबंधित नागरिक पर रहेगी। रास्ते पर कचरा डालने वालों के िखलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मनपा में स्वास्थ्य समिति सभापति वीरेंद्र कुकरेजा ने पत्र परिषद में यह जानकारी दी।

रास्ते पर कचरा डालने वालों पर रहेगी नजर
उपद्रव शोध दल रास्ते पर कचरा डालने वालों पर नजर रखेगा। फिलहाल इस दल में 87 जवान कार्यरत है। जवानों की संख्या बढ़ाकर 157 की जाएगी। स्थायी समिति द्वारा प्रस्ताव मंजूर किया गया है। भविष्य में जवानों की संख्या बढ़ाकर 200 तक की जाएगी। सभी जोन में उपद्रव शोध दल रहेगा। रास्तों पर कचरा फेंकने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाने के लिए उन्हें टार्गेट दिया जाएगा।

जारी होगा हेल्प लाइन नंबर
 
डोअर-टू-डोअर कचरा संकलन गाड़ी नहीं पहुंचने पर नागरिक शिकायत कर सकेंगे। इसके लिए हेल्प लाइन नंबर जारी किया जाएगा। शिकायत मिलने पर तत्काल कचरा संकलन करने की जवाबदेही संबंधित एजेंसी पर तय की गई है।

देर रात तक संकलन
मनपा आयुक्त ने बताया कि कचरा संकलन पूरी तरह मैकेनाज्ड सिस्टम से किया जाएगा। जिस जगह मैकेनाज्ड वाहन नहीं ले जाए जा सकते, ऐसी जगह के िलए साइकिल वाहन का इस्तेमाल किया जाएगा। ऐसे रूट पहले ही चिह्नित िकए गए हैं। सहायक आयुक्त स्तर पर संबंधित कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ मिलकर इसका नियोजन किया जाएगा। व्यावसायिक क्षेत्र का कचरा एक शिफ्ट में संकलन करना संभव नहीं है, इसलिए दो शिफ्ट में संकलन होगा। होटलों का कचरा संकलन प्रक्रिया देर रात तक चलेगी। चिकन, मटन मार्केट का कचरा संकलन के लिए स्वतंत्र वाहनों की व्यवस्था रहेगी। रास्तों की सफाई करने पर जमा होने वाला कचरा जला दिया जाता है। भविष्य में इसे जलाया नहीं जाएगा। इसे उठाकर कचरा संकलन करने वाली गाड़ियों में डाला जाएगा। जमीन पर कचरा जमा नहीं होगा : नई कचरा संकलन पद्धति में जमीन पर कचरा संकलन नहीं िकया जाएगा। प्रत्येक जोन में एक ट्रांसफर स्टेशन रहेगा। छोटे वाहन से सीधे बड़े वाहन में
कचरा डालकर इसे डंपिंग यार्ड पहुंचाया जाएगा। 

कनक के सभी कामगारों का समायोजन
 स्वास्थ्य समिति सभापति कुकरेजा ने कहा िक कनक के सभी कामगारों का नई एजेंसियाें में समायोजन िकया जाएगा। बशर्ते फिटनेस सर्टिफिकेट और पुलिस वेरिफिकेशन कराना होगा। 11 नवंबर से नई एजेंसियों का ट्रायल शुरू होगा। इसके बाद संभवत: 15 नवंबर से प्रत्यक्ष काम की शुरुआत की जाएगी।

खबरें और भी हैं...