comScore

अच्छी खबर - कोरोना पॉजिटिव महिला की डिलेवरी के बाद 17 दिन साथ रहे नवजात को संक्रमण नहीं

अच्छी खबर - कोरोना पॉजिटिव महिला की डिलेवरी के बाद 17 दिन साथ रहे नवजात को संक्रमण नहीं

डिजिटल डेस्क जबलपुर । 2 जून को पॉजिटिव मिली नया मोहल्ला निवासी 26 वर्षीय गर्भवती महिला की मेडिकल कॉलेज के गायनिक विभाग में सिजेरियन ऑपरेशन के द्वारा डिलेवरी कराई गई। पहले दिन नवजात की रिपोर्ट कोरोना निगेटिव थी। माँ संक्रमित नवजात निगेटिव, इस स्थिति में बच्चे को कहाँ रखा जाए इस बात को लेकर डॉक्टरों ने काफी मंथन किया। निर्णय लिया गया कि प्राइवेट रूम वाले सस्पेक्टेड वार्ड में माँ-बच्चे को पूरी सावधानी और शिशु तथा स्त्री रोग विशेषज्ञों की निगरानी में रखा जाए। 
   नवजात को लेकर माँ को कई तरह की हिदायतों का पालन करने के साथ ही संपर्क में लेने पर पीपीई किट का उपयोग अनिवार्य किया गया। गर्मी में यह किट पहनना बेहद तकलीफ वाला होने के बाद भी माँ ने खुद से बच्चे को संक्रमण न होने के लिए ये परेशानियाँ उठाईं। 17 दिन बाद शुक्रवार को माँ को संक्रमण मुक्त होने के बाद मेडिकल से डिस्चार्ज किया गया। बच्चे का भी कोरोना टेस्ट हुआ वह भी निगेटिव आया। मेडिकल के कोविड नोडल अधिकारी डॉ. संजय भारती का कहना है कि माँ को संक्रमण होने के बाद नन्हे बच्चे को इससे बचाना काफी मुश्किल काम था। डॉक्टरों तथा नर्सिंग स्टाफ ने सतत निगरानी रखी, वहीं महिला ने भी सभी सावधानियों का पालन किया जिससे यह नवजात 17 दिनों तक संक्रमित के सीधे संपर्क में रहने के बाद भी उसके प्रभाव से बचा रहा।  तीन संक्रमित हुए स्वस्थ 
विक्टोरिया अस्पताल के कोविड केयर वार्ड से शुक्रवार को तीन मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इनमें भानतलैया की महिला, शास्त्री नगर का व्यक्ति तथा पुलिस का एएसआई है। दस दिन के डिस्चार्ज नियम के तहत इन तीनों मरीजों को सात दिन तक घर में क्वारंटीन रहना होगा। 
 

कमेंट करें
akPHL