comScore

ट्रैक्टर के पहिए के नीचे दब गया घर का चिराग

ट्रैक्टर के पहिए के नीचे दब गया घर का चिराग

डिजिटल डेस्क कटनी । धान से लदी ट्रैक्टर-ट्राली से गिरकर बेटे की मौत हो गई। मां गंभीर रुप से घायल हो गई। मां के सामने ही घर का इकलौता चिराग पहिए के नीचे दब गया। घटना उमरियापान थाना क्षेत्र अंतर्गत गनियारी में रात करीब सात बजे की है। ट्रैक्टर क्रमांक एमपी 20 एबी 1633 से खेत में कटी हुई धान की फसल को खलिहान ले जाने का काम किया जा रहा था। ट्रैक्टर की ट्राली में रामदास का पांच वर्षीय पुत्र साहिल और उसकी मां अंजलि भी बैठी रही। बीच रास्ते में वाहन अनियंत्रित हो गया। जिसके बाद ट्राली से फिसकर मां-बेटे गिर गए। पहिए के नीचे पांच वर्षीय मासूम की मौत हो गई। मां घायल हो गई। घटना के बाद पुलिस की देरी से पहुंचने पर ग्रामीणों का गुस्सा सडक़ों पर उतर गया। आधी रात में जब पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे। जिसके बाद मामला शांत हुआ। 
ग्रामीणों का फूटा गुस्सा
ग्रामीण रात भर शव को आधी रात तक सडक़ में रखकर प्रदर्शन करते रहे। शनिवार को अयोध्या फैसले को लेकर पुलिस अधिकारी और कर्मचारी सुरक्षा व्यवस्था में अलग-अलग जगहों पर मौजूद रहे। जिसके चलते यहां पर दो घंटे देरी से पुलिस पहुंची। पुलिस की देरी के चलते ग्रामीणों का आक्रोश सडक़ों पर उतर गया। घटना शाम सात बजे यहां पर घटित हुई थी। सूचना के बाद करीब रात नौ बजे सिलौड़ी चौकी से एक एसआई पहुंचे। जिसके बाद ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। रात में ही सडक़ पर शव रखकर प्रदर्शन किए। जानकारी लगने पर एसडीओपी पहुंचे। ग्रामीणों को समझाईश दी। सुबह ही यहां से शव को उठाते हुए पीएम के लिए भेजा गया।
आधी रात को जब्त किया वाहन
पुलिस और ग्रामीणों के बीच आधी रात तक वाद-विवाद की स्थिति बनीं रही। ग्रामीण उसी ट्राली से शव को ले जाने की मांग कर रहे थे। जिस ट्राली के पहिए में दब जाने से मासूम की मौत हो गई थी। ग्रामीणों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए यहां पर उमरियापान थाना प्रभारी और ढीमरखेड़ा थाना प्रभारी अपने बल के साथ पहुंचे। रात दो बजे वाहन को जब्त कराते हुए थानें में खड़ा कराया गया। पुलिस ने कहा कि जिस वाहन से ग्रामीण शव ले जाने की बात कर रहे हैं। उसे जब्त कर लिया गया है।
मेरा सब कुछ चला गया
मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों के सामने ही उस बेवस पिता का दर्द छलक उठा। जिसके घर का चिराग बुझ गया था। ग्रामीणों ने कहा कि पिता ने कहा कि वह अपने बेटे के लिए कई तरह का सपना संजोया हुआ था। इस घटना ने उसका सब कुछ छीन लिया। शाम को वह दोनों के घर आने का इंतजार कर रहा था कि बेटे का इंतजार अब  वह जीवन भर ही करता रहेगा।
इनका कहना है
गनियारी में ट्रैक्टर-ट्राली से एक मासूम की मौत हो गई। महिला भी घायल हो गई। जिसका इलाज जबलपुर में किया जा रहा है। ग्रामीणों में घटना को लेकर
गुस्सा रहा। समझाईश के बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ। वाहन जब्त कर आगे की कार्यवाही की जा रही है।
- पी.के.शास्वत, एसडीओपी स्लीमनाबाद
 

कमेंट करें
5t4Cp