अयोध्या के संत: भारत को 2 अक्टूबर तक हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं किया गया तो ले लूंगा जल समाधि : जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज

September 29th, 2021

हाईलाइट

  • संत परमहंस ने की केंद्र सरकार से मुसलमानों और ईसाइयों की राष्ट्रीयता समाप्त करने की अपील

डिजिटल डेस्क, अयोध्या। अयोध्या के संत जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज ने घोषणा की है कि अगर 2 अक्टूबर तक भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं किया गया तो वह सरयू नदी में जल समाधि ले लेंगे। जल समाधि तब होती है, जब कोई व्यक्ति खुद को पानी में डुबो कर अपना जीवन समाप्त कर लेता है। संत परमहंस ने केंद्र सरकार से मुसलमानों और ईसाइयों की राष्ट्रीयता समाप्त करने के लिए भी कहा है। यह पहली बार नहीं है, जब परमहंस ने इस तरह की चेतावनी दी है।

इससे पहले, उन्होंने हिंदू राष्ट्र के मुद्दे पर 15 दिनों का लंबा उपवास किया था और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से आश्वासन मिलने के बाद उन्होंने अपना उपवास तोड़ दिया। संत परमहंस ने अपना जीवन समाप्त करने के इरादे से लंबा उपवास रखने का फैसला किया था, जिसे गृह मंत्री के आश्वासन के बाद तोड़ दिया गया था।

इससे पहले, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत हिंदू राष्ट्र के बारे में बार-बार जोर दे चुके हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हिंदुत्व एक ऐसा शब्द है, जो भारत की भूमि में आध्यात्मिकता-आधारित परंपराओं की निरंतरता और मूल्य प्रणाली की एक संपूर्ण संपदा के साथ-साथ हमारी पहचान को व्यक्त करता है। इसलिए, यह शब्द सभी 1.3 अरब लोगों पर लागू होता है, भागवत ने 2020 में अपने विजय दशमी भाषण के दौरान यह टिप्पणी की थी।

(आईएएनएस)