• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • If not found new, then Gondwana Express left by putting an old brake block - messing with security

दैनिक भास्कर हिंदी: नया नहीं मिला तो पुराना ब्रेक ब्लॉक लगाकर गोंडवाना एक्सप्रेस को किया रवाना - सुरक्षा से खिलवाड़

September 19th, 2019

डिजिटल डेस्क जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे के मुख्यालय जबलपुर के कोचिंग डिपो में जिन रेल अधिकारियों को ट्रेनों को मेन्टेनेंस कर यात्री सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई है, वहीं अधिकारी गैर जिम्मेदाराना रवैया अपनाते हुए यात्रियों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने पर आमाद हैं। इसका ताजा उदाहरण बुधवार को देखने मिला जब कोचिंग डिपो में मेन्टेनेंस के लिए आई गाडिय़ों गोंडवाना एक्सप्रेस, महाकोशल एक्सप्रेस और अजमेर दयोदय एक्सप्रेस को पुराने ब्रेक ब्लॉक लगाकर रवाना कर दिया गया। 
कई माह से चल रही भर्राशाही
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुबह 9 बजे से कोचिंग स्टाफ सीनियर सेक्शन इंजीनियर एरिक मिंज से ट्रेनों के लिए ब्रेक ब्लॉक मांगता रहा लेकिन एसएसई ने उन्हें फ्रेश स्टॉक उपलब्ध नहीं कराया, जिसकी वजह से कोचिंड डिपो के स्टाफ ने पुराने और घिसे-पिटे ब्रेक ब्लॉक दूसरी गाडिय़ों के खड़े रैक से निकाल कर गोंडवाना एक्सप्रेस, महाकोशल एक्सप्रेस और अजमेर दयोदय एक्सप्रेस में लगाए और ट्रेनों को समय से कोचिंग डिपो से रवाना कर दिया। कहा जा रहा है िक पिछले चार महीनों से पुराने ब्रेक ब्लॉक से प्राइमरी मेन्टेनेंस किया जा रहा है। ब्रेक ब्लॉक की कमी के बारे में कोचिंग डिपो ऑफिसर मनीष पटेल को लगातार शिकायत की जा रही हैं लेकिन आज तक फ्रेश ब्रेक ब्लॉक कोचिंग डिपो स्टाफ को नहीं मिल पाएं हैं, जिसकी वजह से उन्हें डिपो में खड़े रैक से पुराने ब्रेक ब्लॉक लगाकर काम चलाना पड़ रहा है, जिससे यात्रियों की सुरक्षा को खतरा हो सकता है।
 

खबरें और भी हैं...