दैनिक भास्कर हिंदी: GHMC Polls: अमित शाह ने निकाय चुनाव में बहुमत का दावा किया, औवैसी से कहा- एक बार लिखकर दें, मैं रोहिंग्या को बाहर निकालता हूं

November 29th, 2020

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद। हैदराबाद निकाय चुनाव से पहले रविवार को गृहमंत्री अमित शाह ने रोड शो किया। रोड शो के बाद अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी के हैदराबाद निकाय चुनाव में बहुमत हासिल करने का दावा किया। अमित शाह ने कहा कि मैं आश्वस्त हूं कि इस बार बीजेपी अपनी सीटें बढ़ाने या अपनी उपस्थिति को मजबूत करने के लिए नहीं लड़ रही है, लेकिन इस बार हैदराबाद के मेयर हमारी पार्टी से होंगे।

अमित शाह ने रोहिंग्या के मुद्दे पर असुद्दीन ओवैसी के उस बयान का जवाब दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर हैदराबाद अवैध बांग्लादेशी और रोहिंग्या रहते हैं तो अमित शाह कार्रवाई क्यों नहीं करते। शाह ने कहा कि रोहिंग्या पर जब वह कार्रवाई करते हैं तो ये लोग शोर मचाने लगते हैं। ओवैसी एक बार लिखकर दें कि बांग्लादेशी और रोहिंग्या को निकाल दें, फिर मैं कुछ करता हूं। 

अमित शाह ने कहा कि हैदराबाद में जिस प्रकार का कॉरपोरेशन टीआरएस और मजलिस के नेतृत्व में चला है, वो हैदराबाद को विश्व का आईटी हब बनाने में सबसे बड़ा रोड़ा है। बारिश में शहर में पानी भरने से करीब 60 लाख लोग परेशान हुए। मजलिस के इशारों पर अवैध निर्माण होता है, इससे पानी की निकासी रुकती है। अमित शाह ने कहा कि मैं हैदराबाद की जनता को विश्वास दिलाता हूं कि एक बार बीजेपी को मौका दीजिए, हम सारे अवैध निर्माण का हटाकर पानी की निकासी सुचारू करेंगे।

शाह ने कहा कि आईटी सेक्टर में निवेश से हैदराबाद को बहुत फायदा हो रहा है। पीएम मोदी ने युवाओं के लिए बहुत सारे अवसर पैदा किए हैं और यह विदेशी निवेशकों द्वारा भारत में दिखाए गए विश्वास को दर्शाता है। अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने 'वर्क फ्रॉम होम' का रास्ता खोल दिया है। हैदराबाद में काम करने वाले आईटी पेशेवरों को इस कदम से सबसे अधिक फायदा होने वाला है। 

अमित शाह ने टीआरएस और असुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते हुए कहा कि केसीआर और मजलिस ने 100 दिन की योजना का वादा किया था, इसका हिसाब हैदराबाद की जनता मांगती है। 5 साल में कुछ भी किया हो तो यहां की जनता के सामने रखिए। सिटिजन चार्टर का वादा किया था, उसका क्या हुआ? शाह ने कहा कि हम हैदराबाद को नवाब, निज़ाम संस्कृति से मुक्त करने और यहां एक मिनी-इंडिया बनाने जा रहे हैं। हम हैदराबाद को एक आधुनिक शहर में बनाना चाहते हैं, जो निज़ाम की संस्कृति से मुक्त हो। 

खबरें और भी हैं...