comScore

भारत ने देश में क्रिटिकल कंपोनेंट्स के विनिर्माण के साथ सुपरकंप्यूटिंग में आत्‍मनिर्भरता हासिल करने का लक्ष्य रखा

October 13th, 2020 17:13 IST
भारत ने देश में क्रिटिकल कंपोनेंट्स के विनिर्माण के साथ सुपरकंप्यूटिंग में आत्‍मनिर्भरता हासिल करने का लक्ष्य रखा

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। केंद्रीय इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और संचार प्रौद्योगिकी, शिक्षा एवं संचार राज्य मंत्री श्री संजय धोत्रे की उपस्थिति में आज आईआईएससी बंगलौर, आईआईटी कानपुर, आईआईटी रुड़की, आईआईटी हैदराबाद, आईआईटी गुवाहाटी, आईआईटी मंडी, आईआईटी गांधीनगर, एनआईटी त्रिची, एनएबीआई मोहाली और आईआईटी मद्रास में एचपीसी और एआई में प्रशिक्षण हेतु एनएसएम नोडल सेंटरों, आईआईटी खड़गपुर, आईआईटी गोवा और आईआईटी पलक्कड़ में एसेंबली एवं विनिर्माण सहित सुपरकंप्यूटिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर की स्‍थापना के लिए सी-डैक के महानिदेशक डॉ.हेमंत दरबारी और नेशनल सुपरकम्यूटिंग मिशन (एनएसएम) होस्ट इंस्टीट्यूट्स के निदेशक के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इस दौरान इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी सचिव श्री अजय प्रकाश साहनी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव प्रोफेसर आशुतोष शर्मा, इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में विशेष श्रीमती ज्योति अरोड़ा, इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में अपर सचिव डॉ राजेंद्र कुमार, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, सी-डैक एवं होस्ट इंस्‍टीट्यूटस के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। केंद्रीय राज्‍य मंत्री श्री संजय धोत्रे ने कहा, “प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में भारत की विज्ञान और इंजीनियरिंग में चुनौतियों और वास्तविक जीवन की जटिल समस्याओं को सुलझाने के उद्देश्‍य से शैक्षणिक, उद्योग, वैज्ञानिक और अनुसंधान समुदाय, सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम/स्टार्ट-अप्स को आवश्यक कम्प्यूटेशनल शक्ति प्रदान करने के लिए राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन की स्थापना की गई थी। सी-डैक ने पहले ही आईआईटी बीएचयू, आईआईटी खड़गपुर, आईआईएसईआर पुणे और जेएनसीएएसआर बैंगलोर में सुपरकंप्यूटिंग इकोसिस्टम की स्थापना की है। अब भारत में विनिर्माण के साथ कम्प्यूटेशनल विज्ञान तकनीकों का उपयोग करते हुए अनुसंधान और नवाचार की गति को तेज करना, सर्वर बोर्ड, इंटरकनेक्ट, रैक पावर कंट्रोलर और हाइड्रोलिक कंट्रोलर जैसे क्रिटिकल सुपरकंप्यूटिंग घटक, डायरेक्ट लिक्विड कूल्ड डाटासेंटर, एचपीसीटीसी स्टैक आत्मनिर्भर भारत की ओर एक कदम है।” सी-डैक के महानिदेशक डॉ हेमंत दरबारी ने कहा कि “आईआईएससी, आईआईटी, एनआईटी, एनएबीआई जैसे प्रमुख राष्ट्रीय शैक्षणिक और अनुसंधान संस्थान विशिष्‍ट हैं और अपनी तकनीकी विशेषज्ञता के लिए विश्व स्तर पर प्रसिद्ध हैं। भारत की क्षमता को बढ़ाने, अत्याधुनिक सुपरकंप्यूटिंग सुविधाओं के साथ वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं को सशक्त बनाने, वैश्विक प्रतिस्पर्धात्मकता प्राप्त करने और सुपरकंप्यूटिंग प्रौद्योगिकी के रणनीतिक क्षेत्र में आत्मनिर्भरता सुनिश्चित करने के लिए अपने प्रयासों में उनके साथ साझेदारी करने में हमें गर्व है। हमारा मिशन नवीन डिजाइनों, विघटनकारी प्रौद्योगिकियों और विशेषज्ञ मानव संसाधन के साथ भरोसेमंद और सुरक्षित एक्सा-स्केल इको-सिस्टम की स्थापना करना है। हमारा लक्ष्य अपने स्वदेशी हार्डवेयर को विकसित करने के लिए एक्सा-स्केल चिप डिजाइन, डिजाइन और एक्सा-स्केल सर्वर बोर्ड का निर्माण, एक्सा-स्‍केल इंटरकनेक्ट और स्टोरेज सहित सिलिकॉन-फोटोनिक्स सहित सी-डैक में आत्‍मनिर्भर भारत के अनुसार पूर्ण आत्‍मनिर्भरता हासिल करना है।

कमेंट करें
dDImt
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।