नागपुर: बीमा कंपनी न क्लेम दे रही, न ही स्पष्ट कारण बता रही है

July 23rd, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर. बीमा कंपनियां ग्राहकों को बीमा देते समय तरह-तरह के लुभावने वादे करती हैं, लेकिन जब बीमाधारक क्लेम के लिए आवेदन करता है, तो कई तरह की कमियां बताकर क्लेम देने में आनाकानी करती हैं। कई बीमाधारकों की मौत के बाद भी नॉमिनी को क्लेम की राशि नहीं दी जाती है। बीमाधारकों को राशि पाने के लिए परेशान होना पड़ता है। बीमाधारकों का आरोप है कि बीमा कंपनियों द्वारा आम व्यक्तियों के साथ धोखाधड़ी की जा रही है। 

कंपनी ने कैशलेस उपचार बताया था

नाम न छापने की शर्त पर एक व्यक्ति ने बताया कि मैंने अगस्त 2021 को एसबीआई जनरल इंश्योरेंस से आरोग्य प्लस पॉलिसी ली थी। मुझे कोरोनाकाल में ही कोरोना हो गया था। उसके बाद से स्वास्थ्य संबंधी नई-नई समस्याएं होने लगीं। बैंक साइड में बहुत दिक्कत होनी शुरू हुई। सभी टेस्ट कराए, जिसमें पता चला कि हिप ज्वाइंट में तकलीफ बढ़ गई है। अक्टूबर 2021 में डॉक्टर ने ऑपरेशन की सलाह दी।  कंपनी ने कैशलेस उपचार कहा था, लेकिन अस्पताल उनके अंडर में नहीं था, इसलिए ऑपरेशन के बाद बिल की राशि री-एम्बर्स हो जाएगी। ऐसा कंपनी ने बताया। मेरा बिल डेढ़ लाख रुपए बना। कंपनी को जब क्लेम के लिए अप्रोच किया, तो क्लेम रिजेक्ट कर दिया। अभी तक न कारण  स्पष्ट किया है और न ही क्लेम की राशि दी है। पॉलिसी रीन्यूअल की डेट आने वाली है। कंपनी द्वारा कॉल आता है, लेकिन क्लेम नहीं देने का कारण नहीं बताया जा रहा है। 

उचित मंच तक बात... इस नंबर पर बीमा से संबंधित समस्याएं बताएं 

इस तरह की समस्या यदि आपके साथ भी है, तो आप  दैनिक भास्कर नागपुर के मोबाइल नंबर  9422165556  पर बात करके प्रमाण सहित अपनी समस्या रख सकते हैं। संकट की इस घड़ी में आपकी आवाज को भास्कर द्वारा खबर के माध्यम से उचित मंच तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा।