comScore

जबलपुर व नर्मदापुरम बालिका फुटबॉल का फाइनल मुकाबला आज

जबलपुर व नर्मदापुरम बालिका फुटबॉल का फाइनल मुकाबला आज

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा । राज्य स्तरीय शालेय फुटबॉल स्पर्धा के बालिका वर्ग में जबलपुर संभाग की टीम आदिमजाति कल्याण विभाग को रोमांचक मुकाबले में हराकर फाइनल में पहुंच गई है। वहीं नर्मदापुरम की टीम ने भी ग्वालियर की टीम को सेमीफाइनल मैच हरा दिया है। दोनों टीमों जबलपुर व नर्मदापुरम के बीच आज फाइनल मुकाबला स्थानीय स्टैडियम मैदान में होगा। वहीं 19 वर्ष बालक फुटबॉल प्रतियोगिता में फाइनल मुकाबला उज्जैन संभाग और भोपाल संभाग के बीच आज खेला जाएगा। तीसरे व चौथे स्थान के लिए बालक फुटबॉल स्पर्धा में जबलपुर व नर्मदापुरम के बीच मुकाबला होगा। गुरूवार को 19 वर्ष बालिका फुटबॉल का सेमीफाइनल मैच जबलपुर व आदिमजाति कल्याण विभाग की टीम के बीच बहुत ही रोमांचक रहा है। इस मैच को देखने मैदान में दर्शकों की भीड़ आखिरी तक जमी रही। आखिरकार कड़े मुकाबले के बाद जबलपुर ने मैच जीत लिया है। जबलपुर व नर्मदापुरम की टीम का फाइनल मुकाबला भी रोमांचकारी रहने की उम्मीद है। 
बैडमिंटन में इंदौर बना सिरमौर, ग्वालियर में भी जीते दो मैच 
बैडमिंटन के सभी वर्गों के फाइनल मुकाबले गुरूवार को संपन्न हो गए। बैडमिंटन के फाइनल्स में इंदौर पूरे प्रदेश में सिरमौर बन गया है।  इंदौर संभाग ने 14 वर्ष बालक वर्ग में फाइनल जीता, 17 वर्ष बालिका, 19 वर्ष बालक एवं 19 वर्ष बालिका वर्ग के फाइनल मुकाबले जीतकर चार वर्गों में ऑल ओवर चैंपियन इंदौर संभाग बन गया है। इसके अलावा ग्वालियर संभाग ने 14 वर्ष बालिका व 17 वर्ष बालक वर्ग के फाइनल मुकाबले जीतकर दो वर्गों में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। 
 

कमेंट करें
Ox0cH
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।