दैनिक भास्कर हिंदी: होटलों में देर रात तक छलक रहे जाम, मौज-मस्ती - शहर से लगे क्षेत्रों में प्रोटोकॉल का खुला उल्लंघन, थानों की पुलिस का रहता है संरक्षण 

June 9th, 2021

डिजिटल डेस्क जबलपुर ।  कोरोना प्रोटोकॉल के तहत जहाँ होटलों में बैठकर खाना खाने तक की मनाही है, ऐसी स्थिति में शहर के बाहरी हिस्सों की कुछ चुनिंदा होटलों में देर रात तक हुड़दंग मची रहती है। इन होटलों के बाहर रईसजादों की गाडिय़ाँ खड़ी रहती हैं और होटल के अंदर शराब व फूहड़ मौज मस्ती की पार्टियों का दौर चलता है। जानकारों का आरोप है कि देर रात होने वाली इन पार्टियों को संबंधित क्षेत्र के थानों की पुलिस का संरक्षण रहता है। उल्लेखनीय है कि कोरोना के चलते होटल व ढाबा आदि को केवल होम डिलेवरी के लिए खोले जाने की अनुमति प्रदान की गई है। इसकी आड़ में शहर में भेड़ाघाट, बरगी व बरेला रोड पर कुछ होटलों में इस आदेश का खुला उल्लंघन किया जा रहा है। जब पूरा शहर बंद हो जाता है, इसके बाद इन होटलों, रिसॉर्ट आदि में पार्टियों का सिलसिला शुरू होता है, जो कि देर रात तक चलता रहता है। जानकार बताते हैं कि ऐसे होटलों में लॉकडाउन के दौरान भी पार्टियाँ बंद नहीं हुईं और होटलों के बाहर लग्जरी गाडिय़ाँ खड़ी रहती हैं लेकिन पुलिस इन पर कार्रवाई नहीं करती है। आरोप यह भी सामने आए कि होटल संचालकों की पुलिस से पूरी सेटिंग है, जिसके चलते शराब व अन्य तरह से पार्टियाँ मनाने की पूरी छूट रहती है। कुछ होटलों में होने वाली इन पार्टियों को लेकर अधिकारियों तक शिकायतें पहुँची हैं, लेकिन ठोस कदम नहीं उठाए गए। 
इधर, अनैतिक कार्य  के लिए दिए जा रहे रूम
 इस मामले को लेकर उत्तिष्ठ भारत संगठन द्वारा एसपी को एक शिकायत सौंपकर होटलों में होने वाली संदिग्ध गतिविधियों व देर रात तक चलने वाली अश्लील पार्टियों पर रोक लगाने की माँग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष सुमित सिंह ठाकुर, प्रदीप मिश्र, तापेश सरकार, अभिषेक चंद्राकर, राजा यादव, रजनीश ठाकुर आदि द्वारा की गई है।