दैनिक भास्कर हिंदी: पेरोल पर आया रेपिस्ट, भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला

March 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, आदित्यपुर। जमशेदपुर से सटे आदित्यपुर में भीड़ ने कानून को अपने हाथों में ले लिया। दुष्कर्म के आरोप में जेल में सजा काट रहे रतन लोहार नाम के एक अपराधी को भीड़ ने पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया। दरअसल अपराधी रतन लोहार पेरोल पर बाहर आया था। शुक्रवार की शाम करीब 3:30 बजे लोगों की भीड़ ने उसे उसके ही इलाके राम मड़ैया बस्ती में पकड़ लिया और उसकी गाड़ी पर तोड़फोड़ करने के बाद उसे खदेड़कर जमकर पीटा और इतना पीटा कि वह मर गया।

 

भीड़ का इंसाफ

बताया जाता है कि लोगों ने रतन लोहार को स्कॉर्पियो कार में देखा। लोगों ने पहले उसकी कार में तोड़फोड़ की और उसे पलट दिया। इस बीच रतन लोहार जान बचाने के लिए वहां से भाग खड़ा हुआ, लेकिन भीड़ उसका पीछा करने लगी। बस्तीवासियों ने राम मड़ैया बस्ती के पास स्थित डब्ल्यू टाइप फ्लैट तक उसका पीछा किया। रतन लोहार भागते हुए एक मकान के तीन तल्ला पर स्थित फ्लैट में चला गया। भीड़ वहां भी पहुंच गई। जिसके हाथ जो भी लगा उसने पीटना शुरू कर दिया। जिससे उसकी मौके वारदात पर ही मौत हो गई।

 

 

घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने रतन लोहार के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना के बाद पूरी बस्ती में सन्नाटा पसर गया है। एसडीओ संदीप कुमार, एसडीपीओ अविनाश कुमार, आदित्यपुर, गम्हरिया, कांड्रा की पूरी पुलिस राम मड़ैया बस्ती पहुंच गयी। घटना के संबंध में जांच की जा रही है। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। 


कई महिलाओं से रेप का आरोपी

जानकारी के अनुसार, वर्ष 2012 में रतन लोहार को कई महिलाओं से दुष्कर्म के मामले में सजा हुई थी। नवंबर 2016 में वह जेल से छूटा था। जेल से छूटने के बाद वह बस्ती में रहना चाहता था, लेकिन बस्तीवासी उसे वहां रहने नहीं देना चाहते थे। वह जमशेदपुर में रह रहा था और उसकी पत्नी और बच्ची इसी बस्ती में रहते थे। पत्नी और बच्चों से बस्तीवासियों को दिक्कत नहीं थी। शुक्रवार दोपहर जब वह होली मिलने के लिए बस्ती पहुंचा तो लोगों ने उसे देखा आक्रोशित हो गए।

 


 

बस्ती में पसरा सन्नाटा

मृतक रतन लोहार ने भी अपनी पिस्तौल निकाल कर हवाई फायर कर लोगों को डराने की कोशिश की, लेकिन भीड़ उस पर टूट पड़ी। पुलिस ने आठ नामजद आरोपियों में से दो को गिरफ्तार कर लिया है। रतन लोहार की हत्या के बाद उसके पुत्र विपुल कर्मकार के बयान पर आदित्यपुर थाना में भादवि की धारा 147/148/149/302 तथा 27 आर्म्स एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें आठ लोग राजेंद्र कर्मकार, शंकर मुंडा, कालिया लोहार, छुटू मुंडा, टुनू लोहार, बॉबी मिश्रा, बबलू लोहार व राजेंद्र मिश्रा के अलावा दर्जनों अन्य अज्ञात लोगों को अभियुक्त बनाया गया है। दो नामजद अभियुक्त राजेंद्र कर्मकार व शंकर मुंडा को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में पुलिस की छापामारी जारी है। घटना के दूसरे दिन भी बस्ती में सन्नाटा पसरा हुआ है।