दैनिक भास्कर हिंदी: कोरेगांव भीमा दंगे पूर्व नियोजित साजिश : रामदास आठवले

January 23rd, 2018

डिजिटल डेस्क, पुणे। सामाजिक न्याय राज्यमंत्री सांसद रामदास आठवले ने मंगलवार को पुणे में कहा कि कोरेगांव भीमा दंगे पूर्व नियोजित साजिश थी। घटना को लेकर मामला दर्ज हुए मिलिंद एकबोटे और भिड़े गुरूजी पर कार्रवाई होनी चाहिए। आठवले ने कहा कि कोरेगांव भीमा दंगे करवाने की पहले से ही साजिश रची गई थी और दंगे हुए। इसमें पुलिस की भी नाकामयाबी है। दंगे के पीछे नक्सलवादी नहीं है। वे तो हमारे मित्र हैं। इसलिए घटना की गहरी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मामला दर्ज होने के बाद भिड़े गुरूजी और मिलिंद एकबोटे पर कार्रवाई होनी ही चाहिए थी। इस बारे में मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के विदेश से लौटने के बाद चर्चा की जाएगी। आठवले ने कहा कि दलित और मराठा में राजनीति नहीं होनी चाहिए। 


नहीं रद्द होगा एट्रोसिटी कानून

आठवले ने कहा कि एट्रोसिटी कानून कभी भी रद्द नहीं होगा। दलितों को अपने मित्र मानकर काम करें। जब चुनाव होते हैं तब समाज के लोग काम करते हैं। यह न भूले। संविधान में किसी भी स्थिति में बदलाव नहीं लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं वहां दिल्ली में बैठा हुआ हूं। जो लोग संविधान बचाव की मांग कर रैलियां निकाल रहे हैं, वे इसकी बजाय खुद की पार्टी बढ़ाने के लिए काम करें। इस दौरान उन्होंने कहा कि यदी जिग्नेश मेवाणी को अच्छा नेता बनना है, तो वे भड़काऊ, उलट-पुलट भाषण न करें। आठवले ने ऐसी सलाह दी है। 


महाराष्ट्र से दिल्ली तक होगा आंदोलन

इससे पहले बहुजन महासंघ नेता प्रकाश अंबेडकर ने कहा था कि प्रधानमंत्री कार्यालय के इशारे पर ही राज्य सरकार संभाजी (मनोहर) भीड़े को गिरफ्तार नही कर रही है। आंबेडकर ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य सरकार को आदेश देना चाहिए कि वह दोनों को तत्काल गिरफ्तार करें। अन्यथा इन्हे शीघ्र गिरफ्तार नही किए जाने पर महाराष्ट्र से लेकर दिल्ली तक आंदोलन छेड़ा जाएगा।