comScore

लॉकडाउन - दिव्यांगों के लिए क्या कर रही है सरकार?

लॉकडाउन - दिव्यांगों के लिए क्या कर रही है सरकार?

डिजिटल डेस्क जबलपुर । लॉकडाउन में संकटों का सामना कर रहे दिव्यांगों को लेकर दायर जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार व अन्य को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं। चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली युगलपीठ ने सरकार को 15 जून तक जवाब पेश करने के निर्देश देकर अगली सुनवाई 17 जून को निर्धारित की है। खण्डवा के ग्राम बावडिय़ा में रहने वाले अखिलेश गुर्जर की ओर से दायर इस याचिका में आरोप है कि प्रदेश के अधिकांश दिव्यांग लॉकडाउन के दौरान परेशानियों का सामना कर रहे और सरकार उनके लिए कुछ नहीं कर रही है। याचिका में राहत चाही गई है कि सभी दिव्यांगों को मासिक पेंशन के अलावा 3-3 माह के राशन व अन्य सामग्रियां देने के निर्देश सरकार को दिए जाएं। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता शन्नो शागुफ्ता खान का पक्ष सुनने के बाद युगलपीठ ने नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।
एलोपैथी दवाएं लिखने वाले डॉक्टर को मिली जमानत
घमापुर थानांतर्गत अनाधिकृत रूप से चिकित्सा व्यवसाय करने वाले डॉ. जितेन्द्र सिंह वर्मा को जस्टिस संजय द्विवेदी की एकलपीठ ने अग्रिम जमानत का लाभ दिया है। मुख्य चिकत्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष मिश्रा के निर्देश पर झोलाछाप डॉक्टरों की जांच के लिए गठित टीम द्वारा की गई जांच में पता चला था कि डॉ. वर्मा  बिहार के एक फर्जी संस्थान मेडिकल काउंसिल आफ पेटेंट मेडिसन सोसायटी की डिग्री के आधार पर अनाधिकृत रूप से चिकित्सा व्यवसाय करके एलोपैथी की दवाएं लिख रहा, जो गैरकानूनी है। आरोपी के अधिवक्ता विकास मिश्रा की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने जमानत अर्जी सुनवाई के बाद मंजूर कर ली।
 

कमेंट करें
2DvTS