comScore

दस हजार रूपये की रिश्वत लेने के आरोप में शिक्षक गिरफ्तार, लोकायुक्त की कार्रवाई

दस हजार रूपये की रिश्वत लेने के आरोप में शिक्षक गिरफ्तार, लोकायुक्त की कार्रवाई

डिजिटल डेस्क,पन्ना। सागर संभाग की लोकायुक्त पुलिस द्वारा आज पन्ना जिला मुख्यालय में एक सहायक शिक्षक को 10 हजार रूपये की रिश्वत लेते हुये  गिरफ्तार किया है । लोकायुक्त पुलिस द्वारा की गयी इस कार्रवाई  के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी सहायक शिक्षक रामशंकर रैकवार पन्ना नगर से करीब 5 किमी दूर प्राथमिक शाला कुंजवन में सहायक शिक्षक के पद पर पदस्थ है। 

यह है मामला

आरोपी शिक्षक के विरूद्ध गुनौर विकासखण्ड अंतर्गत आने वाले शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय लुहरगांव में अध्यापक पद पर पदस्थ अरविन्द द्विवेदी द्वारा दिनांक 17 जुलाई को लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक सागर रामेश्वर सिंह यादव के समक्ष शिकायत की गयी थी कि सहायक शिक्षक रामशंकर रैकवार जो जिला पंचायत पन्ना की शिक्षा प्रकोष्ठ की शाखा का कार्य करता है  उनकी वेतन वृद्धि की बहाली कराने एवं पदस्थापना लुहरगांव हायर सेकेण्डरी स्कूल से पूर्व पदस्थापना स्थल में किये जाने को लेकर रिश्वत की मांग की मांग कर रहा है ।फरियादी अध्यापक द्वारा लोकायुक्त पुलिस को बताया गया कि उसे काफी तंग किया गया है और वह आरोपी रामशंकर रैकवार को लोकायुक्त के माध्यम से कानूनी कार्यवाही चाह रहा है। फरियादी अध्यापक अरविंद द्विवेदी द्वारा की शिकायत को लोकाउयुक्त पुलिस अधीक्षक सागर द्वारा गंभीरता से लेते हुये शिकायत के सत्यापन के आदेश लोकायुक्त की टीम को दिये गये। लोकायुक्त टीम द्वारा वाइस रिकार्डिंग के जरिये शिकायत कर्ता द्वारा की गयी शिकायत की पुष्टि की गयी शिकायत सही पाये जाने के बाद लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक सागर 

रंग गए हाथ

आज सुबह करीब साढ़े नौ बजे लोकायुक्त पुलिस की टीम आरोपी शिक्षक रामशंकर रैकवार के सुरेश लॉज के पीछे धाम मोहल्ला स्थित निवास के इर्द-गिर्द तैनात हो गयी तथा योजना अनुसार शिकायत कर्ता अध्यापक अरविन्द द्विवेदी को कैमिकल पाउडर लगे10 हजार रूपये की रकम देने के लिये घर भेजा गया ।  शिकायत कर्ता अध्यापक द्वारा जैसे ही रिश्वत की रकम आरोपी शिक्षक को दिये जाने की पुष्टि हुयी लोकायुक्त पुलिस द्वारा तत्काल ही घेराबंदी करते हुये घर के अंदर मौजूद शिक्षक को पकड़ लिया गया तथा ट्रेप कार्यवाही के तहत रिश्वत की प्राप्त की गयी रकम की पुष्टि के लिये उनके हाथ धुलवाये गये जोकि रिश्वत के गुलाबी रंग से रंगे निकले। लोकायुक्त पुलिस द्वारा ट्रेपिंग की कार्यवाही करीब चार घंटे जारी रही। 
 

कमेंट करें
aYhzn