दैनिक भास्कर हिंदी: ठाकुरताल में तेंदुओं की दो फैमिली का मूवमेंट, क्षेत्रिय लोगों में दहशत

April 6th, 2021

 

   
डिजिटल डेस्क जबलपुर। ठाकुरताल की पहाडिय़ों में िपछले दो साल से तेंदुओं का मूवमेंट होने से नयागाँव सोसायटी के साथ एमपीईबी कर्मचारियों में दहशत का माहौल बना हुआ है। विगत वर्ष नर-मादा तेंदुओं के साथ दो नन्हें शावकों को देखा गया था, लेकिन अब एक शावक के साथ नर-मादा तेंदुए के दिखने से लोगों की चिंता और बढ़ गई हैं। हालाँकि यहाँ तेंदुए की दूसरी फैमिली की मौजूदगी को लेकर संशय है, क्योंकि जानकारों का मानना है िक विगत वर्ष देखे गए शावक अब जवान हो चुके होंगे, इसलिए उन्हीं में से कोई एक तेंदुआ अपने परिवार के साथ यहाँ मूवमेंट कर रहा है, लेकिन क्षेत्र के कुछ ऐसे लोग हैं, जो पिछले साल से लगातार तेंदुओं के मूवमेंट को लेकर जानकारियाँ जुटा रहे हैं, उन्हीं का दावा है  एक शावक के साथ दिखने वाले नर-मादा तेंदुए दूसरी फैमिली है।
बुजुर्गों और बच्चों को खतरा-
विगत वर्ष ठाकुरताल में तेंदुओं का मूवमेंट होने के बाद वन िवभाग ने कई स्तर पर उन्हें पकडऩे के प्रयास किए थे। नयागाँव सोसायटी के संभावित स्थानों पर िपंजरे और जंगली एरिया में ट्रैप कैमरे लगाए गए थे। इसके अलावा लोगों को सावधान रखने के लिए हमेशा पेट्रोलिंग पार्टियाँ भी भ्रमण पर रहती थीं, लेकिन समय बीतने के बाद वन िवभाग ने सभी चीजें बंद कर दीं। नयागाँव सोसायटी के अध्यक्ष रजत भार्गव ने बताया िक उनके साथ नयागाँव कॉलोनी के कई लोग वन िवभाग के साथ िजला प्रशासन को लगातार इस मामले में िशकायतें दे चुके हैं, पर आज तक कोई भी प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई। श्री भार्गव ने बताया िक तेंदुए शुरू से नयागाँव सोसायटी के पार्क के पास ही मूवमेंट करते हैं, इसलिए सबसे ज्यादा खतरा महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों पर है, क्योंकि ज्यादातर समय ये ही लोग घर या पार्क में वॉक व खेलकूद के लिए पहुँचते हैं।
 

खबरें और भी हैं...