दैनिक भास्कर हिंदी: अहमदनगर लोकसभा सीट से राष्ट्रवादी कांग्रेस ने विधायक संग्राम जगताप को उतारा 

March 20th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। अहमदनगर लोकसभा सीट से राष्ट्रवादी कांग्रेस की तरफ से विधायक संग्राम जगताप उम्मीदवार होंगे। बुधवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने यह घोषणा की। अहमदनगर सीट पर राष्ट्रवादी कांग्रेस के उम्मीदवार संग्राम का भाजपा के संभावित प्रत्याशी सुजय विखे पाटील से मुकाबला होगा। संग्राम भाजपा के अहमदनगर के राहुरी सीट से विधायक शिवाजीराव कर्डिले के दामाद हैं। वहीं संग्राम के पिता अरूणकाका जगताप विधान परिषद के सदस्य हैं। जबकि भाजपा के लोकसभा के उम्मीदवार सुजय विधान सभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटील के बेटे हैं। 

सुजय विखे पाटील से होगा मुकाबला 

सुजय अहमदनगर सीट पर कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ना चाह रहे थे लेकिन यह सीट राष्ट्रवादी कांग्रेस के कोटे में थी। राष्ट्रवादी कांग्रेस ने कांग्रेस के लिए यह सीट नहीं दी। इससे नाराज होकर सुजय भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा ने सुजय को टिकट देने की घोषणा की है। संग्राम और सुजय के बीच होने वाली टक्कर में भाजपा विधायक कर्डिले के सामने दुविधा की स्थिति होगी। क्योंकि कर्डिले के सामने एक तरफ अपने पार्टी के उम्मीदवार सुजय हैं और दूसरी ओर विपक्षी दल से उनके दामाद संग्राम प्रत्याशी हैं। 

भाजपा विधायक कर्डिले के दामाद हैं संग्राम 

इधर, विधान सभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटील कह चुके हैं कि वे अहमदनगर सीट पर राष्ट्रवादी कांग्रेस के उम्मीदवार के लिए प्रचार नहीं करेंगे। उन्होंने कहा था कि मैं अपने बेटे सुजय के लिए भी प्रचार नहीं करूंगा। इस पर पत्रकारों से बातचीत में राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पाटील ने कहा कि कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के विचारों को मानने वाले कांग्रेस के नेता राष्ट्रवादी कांग्रेस के उम्मीदवार को मदद करेंगे। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अब तक 17 उम्मीदवारों की सूची जारी कर चुकी है। 

माढा सीट से विजयसिंह मोहिते- पाटील को मिलने वाली थी उम्मीदवारी 

माढा लोकसभा सीट से राष्ट्रवादी कांग्रेस के सांसद विजयसिंह मोहिते- पाटील के बेटे रणजीतसिंह मोहिते-पाटील के भाजपा में प्रवेश करने के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने कहा कि माढा सीट से विजयसिंह को उम्मीदवारी को दी जाने वाली थी। राष्ट्रवादी कांग्रेस के अध्यक्ष शरद पवार ने विजयसिंह के उम्मीदवारी पर मुहर लगाई थी। लेकिन विजयसिंह ने चुनाव लड़ने से मना कर दिया। उन्होंने उम्मीदवारी के लिए कुछ नाम सुझाए थे पर उन नामों को लेकर पार्टी के स्थानीय नेताओं का विरोध था। 

खबरें और भी हैं...