दैनिक भास्कर हिंदी: बाइक के लिए नवविवाहिता की हत्या - सास-ससुर समेत पति गिरफ्तार

June 22nd, 2020

डिजिटल डेस्क सतना। दहेज में मोटर साइकिल नहीं मिलने से नाराज पति ने मां और पिता के साथ मिलकर पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। इस सनसनी खेज घटना का खुलासा 24 घंटे के भीतर करते हुए मैहर पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। एसडीओपी हेमंत शर्मा ने बताया कि अनीता ुगुप्ता का विवाह वर्ष 2016 में गोला मठ-मैहर के निवासी धीरेन्द्र गुप्ता पुत्र रामलाल गुप्ता 30 वर्ष के साथ हुआ था। शादी के बाद से ही दहेज में बाइक नहीं लाने पर ससुराल में नवविवाहिता को प्रताडि़त किया जाने लगा था। करीब 6 माह पूर्व महिला ने एक बेटी को भी जन्म दिया था। बीते 19 जून को रात लगभग साढ़े 11 बजे इसी बात पर पति धीरेन्द्र, ससुर रामलाल गुप्ता पुत्र परमेश्वरदीन 70 वर्ष और सास बिसरनिया गुप्ता 68 वर्ष ने अनीता के साथ गाली-गलौज व लात-घूसों से मारपीट करते हुए फर्श पर सिर पटक-पटक कर हत्या कर दी। इसके बाद सुबह होने का इंतजार करने लगे और 20 जून को तकरीबन 5 बजे धीरेन्द्र ने थाने में सूचित किया कि रात में सोते समय बेड से औधे मुंह गिर जाने के कारण पत्नी की मौत हो गई है।
पीएम रिपोर्ट से खुली पोल
मौत की सूचना पर पुलिस टीम घटना स्थल का मुआयना किया तो फॉरेंसिक अधिकारी डॉ.महेन्द्र सिंह ने भी जायजा लेकर युवक के बयान के संदिग्ध बताया। तब शव को मरचुरी भेजकर पोस्टमार्टम कराया गया, जिसमें डॉक्टर ने सिर पर गंभीर चोट से मौत का खुलासा किया। इस जानकारी पर मृतिका के पति को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने जुर्म स्वीकार कर लिया।
तब दर्ज किया मुकदमा
ऐसे में आईपीसी की धारा 302, 304 बी, 498ए, 120 बी और दहेज प्रतिषेध अधिनियम की धारा 3/4 अपराध पंजीबद्ध कर सास और ससुर को भी गिरफ्तार कर लिया गया। तीनों को रविवार सुबह न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया। इस कार्रवाई में मैहर एसडीओपी के साथ एसआई एचएल मिश्रा और प्रधान आरक्षक ओमप्रकाश खरे ने अहम भूमिका निभाई। बताया गया है कि अनीता का  मायका रीवा के मऊगंज में हैं, जहां से माता-पिता और कई रिश्तेदार मैहर आए थे,जिनके बयान भी दर्ज किए गए।