comScore

ओएफके प्रबंधन ने बंद किया इस्टेट में पहुंच का मार्ग, लोगों में भड़का आक्रोश, किया प्रदर्शन

ओएफके प्रबंधन ने बंद किया इस्टेट में पहुंच का मार्ग, लोगों में भड़का आक्रोश, किया प्रदर्शन


डिजिटल डेस्क जबलपुर। आयुध निर्माणी खमरिया(ओएफके) प्रबंधन ने अपने इस्टेट से निकलने वाले पहुंच मार्ग को कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए बंद कर दिया है। प्रबंधन द्वारा जारी निर्देश के मुताबिक यहां से जुड़े मानेगांव, दीवानबाड़ा, सेंट ग्रेबियल स्कूल और बापू नगर से जो रास्ते इस्टेट में तक पहुंचते हैं वहां के गेट को बंद कर दिया गया है। इसके साथ ही जहां पर गेट नहीं हैं, वहां पर कटीली झांडिय़ां लगा दी गई हैं, ताकि कोई भी आम व्यक्ति यहां से गुजर न सके। हां फैक्टरी कर्मचारियों को तय समय यानि फैक्टरी समय पर निकलने की छूट दी गई है। फैक्टरी प्रबंधन के इस निर्देश के बाद आम जनता में खासा आक्रोश देखा गया है। आम जनता का कहना है कि यहां से रोजाना सैकड़ों लोग गुजरते हैं। रास्त बंद होने के कारण उन्हें 2 से 3 किलो मीटर का चक्कर लगाकर जाना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि प्रबंधन के तानाशाह रवैए के कारण आम जानता परेशान है। लोगों का कहना है कि मार्ग बंद किए जाने के कारण मानेगांव, चंपानगर और रांझी से आने जाने वाले लोगों की आवाजाही रुक गई है। लोगों को लंबा चक्कर लगाकर जाना पड़ रहा है।
खुले रखे जाते थे मार्ग-
क्षेत्रिय लोगों का आरोप है कि वेस्टलैंड एरिया में खमरिया इस्टेट से लगी आबादी इलाके से लगे पांच मार्ग हैं। आम दिनों में इन गेटों को खुला रखा जाता है ताकि लोगों को आने जाने में किसी प्रकार की परेशान का सामना न करना पड़े। वर्तमान में कोविड-19 एरिया घोषित न होने के बाद भी गेट को बंद किया  जाता गलत है। लोगों का आरोप है कि जब फैक्टरी कर्मचारियों के लिए गेट  खुला रहता है, तो आम जनता के लिए गेट बंद किया जाना जाना समझ के परे है। लोगों का कहना है कि प्रबंधन के तानाशाह रवैए के खिलाफ लोगों में आक्रोश है।
लोगों ने किया हंगामा-
सोमवार शाम उस समय हंगामे की स्थिति निर्मित हो गई, जब वहां तैनात गार्डों ने सभी गेट बंद कर दिए, जिसके कारण अपने-अपने घरों को  लौटने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। लोगों ने हंगामा किया, जिसके बाद मौके पर फैक्टरी प्रबंधन के सुरक्षाकर्मी पहुंच गए और लोगों के बीच विवाद की स्थिति निर्मित हो गई। लोगों का कहना है कि दीवानबाड़ा पहुंच मार्ग बंद न करने के आदेश हाईकोर्ट के हैं, लेकिन प्रबंधन द्वारा गेट बंद कर हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना की जा रही है।
मौके पर पहुंचे अधिकारी-
विवाद की स्थिति को देख मौके पर अधिकारी पहुंच गए। अधिकारियों द्वारा लोगों को संतोषजनक जवाब न दिए जाने के कारण लोगों का आक्रोश भड़क गया और उन्होंने प्रबंधन के खिलाफ आंदोलन करने की चेतावनी दी है। अधिकारियों का कहना है कि हमें जैसे आदेश प्राप्त हुए हैं, उसके मुताबिक कार्रवाई की गई है।

कमेंट करें
Et709