comScore

सतना जिले के 120 गांवों में पेट्रोलियम की तलाश शुरु, खटखरी से रनेही के बीच अच्छे संकेत

सतना जिले के 120 गांवों में पेट्रोलियम की तलाश शुरु, खटखरी से रनेही के बीच अच्छे संकेत

डिजिटल डेस्क, सतना। ऑयल एंड नेचुरल गैस कारपोरेशन लिमिटेड (ओएनजीसी) मुंबई की अधिकृत एजेंसी श्रीराज मंगल पार्टी मैनेजर ग्लोब इकोलॉजिस्टिक अहमदाबाद ने जिले के कोठी इलाके में भूमिगत पेट्रोलियम प्रोडक्ट (डीजल-पेट्रोल और प्राकृतिक गैस) की तलाश शुरु कर दी है। ये मैथेड वस्तुत: टूडी भूकंपीय सर्वेक्षण पर आधारित है। फील्ड मैनेजर सतेन्द्र सिंह चंदेल इलाके में भूमिगत पेट्रोलियम पदार्थों के भंडार की संभावनाओं को लेकर काफी आशान्वित हैं।

उन्होंने बताया कि पिछले साल नवंबर में हनुमना बार्डर के खटखरी से सर्वेक्षण की शुरुआत की गई थी। खटखरी से कोटर और अब कोठी के रनेही की तरफ जैसे सर्वे आगे बढ़ रहा है, भूकंपीय तीव्रता वैसे-वैसे बढ़ती जा रही है। चंदेल ने बताया कि वे फिलहाल 70 से 80 फीसदी भूकंपीय तीव्रता पर खड़े हैं। ये अब तक में मिले सबसे अच्छे संकेत हैं। 

शहपुरा से मैहर की ओर 
फील्ड मैनेजर के मुताबिक सेटेलाइट के जरिए मिली लोकेशन के आधार पर रनेही से शहपुरा और फिर सर्वेक्षण का रुख मैहर की ओर बढ़ेगा। मैहर से रामनगर अमरपाटन और रामपुरबघेलान क्षेत्र में भी भूमिगत पेट्रोलियम भंडार की तलाश के लिए प्राथमिक स्तर पर टूडी भूकंपीय सर्वेक्षण कराए जाने की योजना है। जहां-जहां अच्छे परिणाम मिलेंगे, वहां थ्री-डी और थ्री-सी भूकंपीय सर्वेक्षण भी कराए जाएंगे। 

उल्लेखनीय है, राज्य शासन ने जनवरी 2016 में प्रदेश के सतना जिले में पेट्रोलियम पदार्थों की तलाश के लिए सैद्धांतिक अनुमति दी थी। जिला प्रशासन और खनिज साधन विभाग भी इस सर्वे को हर संभव मदद दे रहा है। 

ऐसे करते हैं खोज 
भूमिगत पेट्रेालियम पदार्थों की तलाश के लिए शुरुआती चरण में टूडी भूकंपीय सर्वेक्षण की मदद ली जाती है। इसके लिए लगभग 70 से 80 फिट गहरा बोर करके सी ग्रेड के बारूद से अंदर विस्फोट किया जाता है और फिर अंदर लगभग 3से 4 किलोमीटर नीचे तक हाई फ्रीक्वेंसी कैमरों और अत्याधुनिक सेंसर के माध्यम से तीव्रता पढ़ते हुए रिकार्ड की जाती है। ये डाटा विश्लेषण के लिए ओएनजीसी के देहरादून स्थित आफिस को भेजे जाते हैं। श्रीराज मंगल पार्टी मैनेजर ग्लोब इकोलॉजिस्टिक अहमदाबाद के फील्ड मैनेजर सतेन्द्र सिंह चंदेल ने बताया कि कोठी के रनेही इलाके में कंपनी की तीव्रता 70 से 80 के बीच पाई गई है, जो शुभ संकेत है।
 

कमेंट करें
bYiZ1