दैनिक भास्कर हिंदी: चार महीने में पांचवीं बार आगे बढ़ीं पीजी डिग्री और डिप्लोमा की परीक्षाएं

July 26th, 2021



-मप्र मेडिकल यूनिवर्सिटी में कब होंगी परीक्षाएं, सोमवार से होनी थी परीक्षा, एडमिट कार्ड आने के बाद फिर बढ़ा दी डेट, स्टूडेंट्स के भविष्य से खिलवाड़ जारी, 6वीं बार जारी किया टाइम टेबल  डिजिटल डेस्क जबलपुर। मप्र मेडिकल यूनिवर्सिटी में छात्र-छात्राओं के भविष्य खिलवाड़ जारी है। पीजी डिग्री मेडिकल फैकल्टी और पीजी डिप्लोमा मेडिकल फैकल्टी की परीक्षाओं को एक बार फिर आगे बढ़ा दिया गया है। चार माह में यह पांचवीं बार है, जब पीजी की परीक्षाओं को आगे बढ़ाया गया हो। यूनिवर्सिटी द्वारा पीजी की परीक्षाएं मई में कराई जानी थीं, लेकिन कोविड की दूसरी लहर के चलते परीक्षाएं स्थगित कर नई समय सारिणी जारी कर दी गई, हालांकि कोविड संक्रमण के कम होने के बाद भी अब तक परीक्षाएं नहीं हो सकी हैं। नए टाइमटेबल के अनुसार पीजी की परीक्षाएं सोमवार से होनी थीं। परीक्षाएं न होने से प्रदेश भर के मेडिकल कॉलेजों में छात्र परेशान हैं। बार-बार एग्जाम की तैयारी करने के बाद भी एग्जाम न होने से स्टूडेंट्स को मनोबल टूट रहा है। छात्रों का कहना है कि उनकी परीक्षा कराने की कोई व्यवस्था नहीं कराई जा रही है। विवि के पास परीक्षाएं निरस्त करने के अलावा कोई काम नहीं है।
इसलिए नहीं हो पा रहे एग्जाम-
प्राइवेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी माइंडलॉजिक्स इन्फ्राटेक को टर्मिनेट करने के बाद के बाद मेडिकल यूनिवर्सिटी ने अब तक नई कंपनी से अनुबंध नहीं किया है। एमयू में परीक्षाएं कराने से लेकर परिणाम जारी करने तक सभी कामों जिम्मा निजी ठेका कंपनी के उपर था। नया अनुबंध न होने कारण छात्रों का भविष्य अधर में पड़ गया है। मेडिकल यूनिवर्सिटी में अधिकारियों की फेरबदल के बीच छात्रों की सुध किसी को नहीं है।
इस माह में यह तीसरा आदेश-
इस माह में परीक्षाओं को स्थगित करने और तिथि आगे बढ़ाने से जुड़ा यह तीसरा आदेश है। इसके पहले 6 जुलाई को बीपीटी, बीओटी, बीएएमएस,एमडीएस, बीएचएमएस, एमबीबीएस और बीयूएमएस के अलग-अलग सत्रों की परीक्षाएं स्थगित की गईं थीं। इसके बाद 15 जुलाई को बीएससी नर्सिंग और बीएएमएस के विभिन्न सत्रों के एग्जाम स्थगित किए गए। 24 जुलाई को पीजी डिग्री मेडिकल फैकल्टी और पीजी डिप्लोमा मेडिकल फैकल्टी की परीक्षाओं के लिए नया टाइमटेबल जारी कर दिया।
कब-कब बढ़ी पीजी एग्जाम की डेट
2 मार्च - आदेश के मुताबिक परीक्षाएं 4 मई से 13 मई के बीच होनी थीं।
27 अप्रैल - रिवाइज्ड टाइमटेबल जारी हुआ, जिसमें 10  जून से 21 जून के बीच एग्जाम डेट्स दी गईं।
5 जून -  फिर डेट्स रिवाइज्ड कर दीं गईं, 6 जुलाई से 16 जुलाई के बीच एग्जाम होना था।
8 जून - नया शेड्यूल जारी हुआ, अब 8 जुलाई से 20 जुलाई का समय दिया गया।
12 जुलाई - नए टाइमटेबल के अनुसार 26 जुलाई से 5 अगस्त के बीच की तिथियां तय की गईं।
24 जुलाई - 6वीं बार एग्जाम डेट्स जारी की गई, जिसमें 3 अगस्त से 13 अगस्त के बीच एग्जाम होगा।
जूडा ने दी प्रदर्शन की चेतावनी-
मेडिकल यूनिवर्सिटी द्वारा बार-बार एग्जाम तिथि बढ़ाए जाने को लेकर जूनियर डॉक्टर्स खासे नाराज हैं। मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. पंकज सिंह का कहना है कि परीक्षाओं लेकर एमयू का रवैया ठीक नहीं है और एसोसिएशन इसका विरोध करता है। अगर इसी तरह परीक्षाएं आगे बढ़ाई गईं तो जूडॉ एमयू के खिलाफ प्रदर्शन पर उतर जाएंगे।

खबरें और भी हैं...