दैनिक भास्कर हिंदी: पन्द्रह साल की नाबालिग से ज्यादती, बंधक बनाकर किया दुष्कर्म, आरोपी को पुलिस ने दबोचा

July 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, सतना। रामपुर थाना क्षेत्र में पन्द्रह वर्षीय किशोरी को बंधक बनाकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। जिस पर कायमी कर पुलिस ने आरोपी को धर दबोचा है। टीआई राजेन्द्र मिश्रा ने बताया कि 18 जुलाई की रात 15 वर्षीय किशोरी को उसको घर से आरोपी वरुण विश्वकर्मा पुत्र शारदा प्रसाद 20 वर्ष ने डरा-धमका कर अगवा किया और अपने घर ले गया। जहां उसके साथ ज्यादती करने के बाद 19 तारीख की रात गांव में छोड़कर भाग निकला। उधर बेटी के गायब होने पर पिता ने थाने में शिकायत की तो IPC की धारा 363 का मुकदमा पंजीबद्ध कर लिया गया। इस दौरान लड़की मिल गयी तो परिजन उसे थाने ले आए।

बयान व मेडिकल परीक्षण कराते हुए धारा 366,376(2), 342 IPC और पाक्सो एक्ट की धारा 4/6 बढ़ा दी गई। पुलिस ने शुक्रवार रात को ग्राम गाजन में दबिश देकर आरोपी को पकड़ लिया है। जिसे शनिवार सुबह कोर्ट में पेश किया जाएगा। 

ऑटो से उतारा महिला से ज्यादती
सतना, जसो थाना अंतर्गत झिंगोदर के पास निलंबित पंचायत सचिव पर 21 वर्षीय महिला से ज्यादती का आरोप लगा है। पुलिस के मुताबिक गुरूवार शाम को पीड़िता नागौद से ऑटो में बैठकर गांव जा रही थी। ऑटो में अन्य सवारियों के साथ आरोपी छोटकाई उर्फ ओमप्रकाश भी सवार था। रास्ते में ज्यादातार सवारियां उतर गईं। जब ऑटो गांव के पास पहुंचा तो आरोपी ने चालक को डरा-धमका कर ऑटो रूकवाया और महिला को भी उतार लिया, फिर धमकाते हुए सुनसान जगह पर ले जाकर दुष्कर्म किया और भाग निकला। उसके चंगुल से छूटकर पीड़िता किसी तरह घर गई और परिजन को आपबीती सुनाई तथा शुक्रवार को थाने जाकर IPC की धारा 376 के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया। बताया गया है कि आरोपी के खिलाफ पूर्व मेें भी एक महिला ने छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराया था।

घर से स्कूल के लिए निकली छात्रा अगवा
सतना सिविल लाइन थाना अंतर्गत सोहावल से स्कूल के निकली छात्रा को रहस्यमय ढंग से अगवा कर लिया गया। टीआई सतीष द्विवेदी के मुताबिक 17 वर्षीय छात्रा 19 जुलाई की सुबह ऑटो से सिविल लाइन आई। फिर लगभग साढ़े 11 बजे चौराहे से दूसरे ऑटो में बैठकर स्टेशन रोड स्थित शासकीय विद्यालय के लिए रवाना हो गयी, लेकिन वहां पहुंची नहीं। उधर जब शाम को वह घर नहीं लौटी तो चिंतित परिजन ने उसकी सहेलियों और शिक्षकों से सम्पर्क किया, पर किसी को कुछ पता नहीं था। लिहाजा अपने स्तर पर तलाश करने के बाद थाने चले गए, जहां अज्ञात व्यक्ति पर छात्रा को अगवा करने का संदेह जताते हुए रिपोर्ट दर्ज करा दी।