comScore

लूट की योजना बना रहा अंतर्राज्यीय गिरोह चढ़ा पुलिस के हत्थे

लूट की योजना बना रहा अंतर्राज्यीय गिरोह चढ़ा पुलिस के हत्थे

डिजिटल डेस्क, सतना। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, बैंक और सराफा बाजार के इर्द-गिर्द रेकी कर लूटपाट करने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह के 7 बदमाशों को कोलगवां पुलिस ने वारदात की योजना बनाते गिरफ्तार किया है। आरोपियों के  कब्जे से स्कार्पियो वाहन समेत पाना, पेचकस, कटर, ब्लेड जैसे औजार बरामद किए गए। इस संबंध में जानकारी देते हुए टीआई आरपी सिंह ने बताया कि शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानी रात गश्त कर रही टीम को बदखर में पुलिया के पास संदिग्द्ध लोगों के मौजूद होने की खबर मिली थी, तब वह दल-बल के साथ मौके पर गए और घेराबंदी कर 7 युवकों को दबोच लिया। गिरफ्त में आए संदिग्द्धों से पूछताछ की गई तो गोल-मोल जवाब देकर बचने की कोशिश करते नजर आए, पर जब सख्ती की गई तो बदमाशों ने डकैती की योजना का खुलासा कर दिया। लिहाजा आईपीसी की धारा 401, 399, 34 के तहत कायमी कर सभी को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों के कब्जे से स्कार्पियो क्रमांक एमएच 45 एन 5955 जब्त की गई तो पेचकस, टायर रॉड, पाना, कटर, रिंग पाना, सूजा, नट खोलने वाली गोटी, चाभी का गुच्छा, नेलकटर, टार्च व हेक्सा ब्लेड बरामद किया गया। सभी आरोपियों को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया।

ये पकड़ में आए

पुलिस के हत्थे चढ़े सभी बदमाश महाराष्ट्र के जिला शोलापुर के निवासी हैं। इनकी पहचान बालू गुंजाक पुत्र रामा 40 वर्ष निवासी बारलोठी थाना माड़ा, भीमा जगदाड़े पुत्र दत्तू 65 वर्ष निवासी सेलगांव थाना जेउर, अनिल पुत्र दशरथ डिकोणे 30 वर्ष निवसी ग्राम लौड, संजे राव जाधव पुत्र भोलया 35 वर्ष निवासी उपलेवारे, यशवंत काले पुत्र बापू राव 45 वर्ष निवासी तडवणें, रविकांत पुत्र राजाराम डिकोणे 30 वर्ष निवासी लौड और राजाराम पुत्र डिगवर डिकोणे 53 वर्ष निवासी लौड शामिल हैं।

महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में है वांछित

इस गिरोह के सदस्य बेहद ही शातिर और खूंखार हैं। इनका आंतक महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ समेत कई राज्यों में है। कुछ माह पूर्व सागर के रत्न कारोबारी को 50 लाख का चूना लगाने के मामले में भी इन पर संदेह था लेकिन पुष्टि नहीं हो पाई। एक जगह अपराध करने के बाद तेजी से गायब हो जाते हैं। पुलिस की गिरफ्त में आने पर भी मुंह नहीं खोलते। इनके खिलाफ शोलापुर में चोरी, लूट जैसे दर्जनों अपराध पंजीबद्ध हैं। गिरोह के तौर-तरीके की वारदातों को खंगाल कर इनकी भूमिका सामने लाने की कोशिश हो रही है।

ये रहे शामिल

कार्रवाई में थाना प्रभारी के साथ एसआई बीके तिवारी, खुमान सिंह, आरएल रावत, पीएसआई श्रीराम सनोढिया, एएसआई बीएस उपाध्याय, सरला शर्मा, प्रधान आरक्षक भक्तराज सिंह, देवनारायण उपाध्याय, छवीलाल पयासी, सुमित मरावी, रमेश भारती, धीरेन्द्र सिंह, आरक्षक अजीत सिंह, कमलाकर सिंह, उपेश पाठक, प्रवीण तिवारी, रविराज सिंह आदि शामिल रहे।

कमेंट करें
mfto2