दैनिक भास्कर हिंदी: बिजली दफ्तर पहुंचने वाले हर व्यक्ति का तैयार हो रहा रिकॉर्ड -भोपाल में कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद सावधानी

June 19th, 2020

डिजिटल डेस्क जबलपुर । कोरोना संक्रमण से बचने बिजली कंपनी में हर संभव एहतियात बरती जा रही है, मगर फील्ड अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ ही शहर के दफ्तरों में काम कर रहे कर्मचारियों को काफी सचेत रहने के निर्देश दिए गए हैं। भोपाल में कुछ बिजली कर्मी संक्रमित पाए जाने के बाद से तो और अधिक सावधानी बरती जाने लगी है। खासकर बिजली दफ्तरों में आने वाले हर व्यक्ति का रिकॉर्ड रखा जा रहा है। ताकि किसी के संक्रमित होने की स्थिति में उसकी चेन का आसानी से पता लगाया जा सके। बताया जाता है कि बिल सुधरवाने हर दफ्तर में रोज सुबह से शाम तक उपभोक्ताओं की भारी भीड़ लग रही है। इस दौरान बड़े अधिकारी भले ही दफ्तर के भीतर रहते हैं मगर कर्मचारियों की ड्यूटी बिल सुधारने में लगाई गई है। इसके लिए बाकायदा टेबल-कुर्सी लगाकर रस्सी के सहारे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी कराया जा रहा है। यहाँ आने वाले उपभोक्ताओं की मशीन के द्वारा जाँच तक की जा रही है। 
अब रजिस्टर में नाम पता भी दर्ज होगा
 बताया जाता है कि अब बिजली दफ्तर आने वाले हर व्यक्ति का रिकार्ड रखने उनके नाम, पते रजिस्टर में दर्ज किए जा रहे हैं। इसके अलावा कैमरे के माध्यम से फोटो रिकार्ड भी रखा जा रहा है ताकि कोई अधिकारी-कर्मचारी अगर संक्रमित होता है उसकी चेन ढूंढने में आसानी हो सके।
शक्ति भवन में मचा हड़कंप
बिजली कंपनियों के मुख्यालय शक्ति भवन में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है। इसका कारण भोपाल में बिजली अधिकारियों का संक्रमित मिलना है। जो अधिकारी संक्रमित पाए गए हैं उनमें से दो-तीन अधिकारी 10 से 12 जून के बीच शक्ति भवन निरीक्षण में आए थे। अब इस बात का पता लगाया जा रहा है कि इन अधिकारियों के संपर्क में कौन-कौन रहा है। वहीं मप्र विद्युत कर्मचारी जनता यूनियन के मोहन अग्रवाल ने पूरे प्रकरण की बारीकी से जाँच करने की माँग की है। साथ ही फील्ड कर्मचारियों को नियमों का पालन कराते हुए ही काम कराने की माँग की है। 

खबरें और भी हैं...