comScore

गौरी गैंग का इनामी डकैत गिरफ्तार -कट्टा-कारतूस समेत खाद्य सामग्री जब्त 

गौरी गैंग का इनामी डकैत गिरफ्तार -कट्टा-कारतूस समेत खाद्य सामग्री जब्त 

डिजिटल डेस्क सतना। अंतर प्रांतीय दस्यु सरगना गौरी यादव गिरोह का इनामी डकैत अवधेश यादव पुत्र श्यामलाल यादव 32 वर्ष निवासी साड़ा थाना बरौंधा को पुलिस की संयुक्त टीम ने पटिहर नाला के पास घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया। बदमाश के कब्जे से 315 बोर का कट्टा, 1 जिंदा कारतूस और खाद्य सामग्री बरामद की गई है। आरोपी के सिर पर पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने 5 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। डकैत को मुखबिर की सूचना पर तब पकड़ा गया जब वह 28 जून की शाम को गिरोह के लिए एक थैले में खाने-पीने का सामान गुटखा, साबून, टूथब्रस, टूथपेस्ट और तेल लेकर जंगल जा रहा था। पुलिस ने बताया कि इन दिनों तराई में एक मात्र सक्रिय गिरोह को सतना की सीमा में आश्रय और रसद प्रदान करने से लेकर ठेकेदारों, व्यापारियों एवं आर्थिक रुप से संपन्न लोगों की खबर देने का काम अवधेश के ही जिम्मे था। वह रंगदारी वसूल कर सरगना तक पहुंचाता भी था। गिरफ्त में आने के बाद बदमाश ने पुलिस के सामने इलाके में गौरी गैंग के कैजुअल मेम्बरों, मददगारों और ठिकानों के अलावा आने-जाने के रास्तों का  उगल दिया, जिसके सहारे एडी टीम उन तमाम लोगों की धरपकड़ में जुट गई है। 
ठेकेदार से मांगी थी रंगदारी, 
डकैत अवधेश ने बीते 21 मई को डेढ़ लाख के इनामी गैंग लीडर गौरी यादव को मझगवां के जंगलों में बुलाया और जिल्लहा गांव से रात करीब 12 बजे सौखीलाल कोरी और दो अन्य ग्रामीणों को बंदूक के दम पर अगवा कराने के बाद जंगल में ले जाकर बंदूक की बट व डंडों से जमकर पिटवाया था। डकैतों ने पीडि़त सौखीलाल से तेंदूपत्ता तोड़वाने और सड़क की ठेकेदारी के एवज में 50 हजार की रंगदारी मांगी थी। इस घटना के बाद पीडि़त की शिकायत पर मझगवां थाने में डकैतों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 386, 387 और 11/13 एडी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध किया गया था,तभी से वह फरार चल रहा था। आरोपी के विरुद्ध पूर्व में नयागांव, बरौंधा और मझगवां में 5 अपराध पंजीबद्ध किए गए थे। गिरफ्तारी के बाद आईपीसी की धारा 212, 216, आम्र्स एक्ट की धारा 25/27 एवं 11/13  एडी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध किया गया। पूछताछ में यह भी पता चला है कि सतना जिले की सीमा में गौरी गिरोह तभी कदम रखता था जब अवधेश की तरफ से इशारा मिलता था। एक तरह से इनामी डकैत तराई में गिरोह को लोकल हैण्डलर और संरक्षण दाता था। 
ये रहे शामिल 
डकैत की गिरफ्तारी में बरौंधा टीआई पीसी कोल, मझगवां थाना प्रभारी ओपी सिंह, एएसआई चक्रधर प्रजापति, कप्तान सिंह, आरक्षक राजेश यादव, चंदन दुबे, सुधीर यादव, विकेश पटेल, राकेश कश्यप, ईष्टदेव दीक्षित, रणविजय, अमित यादव और अनुज सिंह ने अहम भूमिका निभाई।
 

कमेंट करें
E5fzQ