comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

नागपुर समेत विदर्भ में तापमान गिरा, रात से रुक-रुक कर बारिश, घंटों लेट उड़ाने

नागपुर समेत विदर्भ में तापमान गिरा, रात से रुक-रुक कर बारिश, घंटों लेट उड़ाने

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लंबे समय बाद उपराजधानी समेत आस-पास के जिलों में हुई बारिश से मौसम कूल-कूल हो गया है। शनिवार रात से रुक-रुक कर बारिश का दौर जारी है। माना जा रहा है कि अगले दो-तीन दिन तक बाारिश का दौर जारी रहेगा। रविवार सुबह से रुक-रुक कर रिमझिम फुहार हो रही है। नागपुर में भले ही धुआंधार बारिश की संभावना कम है, लेकिन जितनी बारिश होगी उससे लोगों को गर्मी व उमस से बहुत ज्यादा राहत मिलेगी। बारिश के कारण नागपुर समेत विदर्भ में तापमान में कमी आ गई है। शनिवार को नागपुर का अधिकतम तापमान 29 डिग्री व न्यूनतम तापमान 23.5 डिग्री सेल्सियस रहा। 

मानसून की द्रोणिका और नीचे  

मौसम विभाग के अनुसार, कम दबाव का क्षेत्र बनने से मानसून की द्रोणिका नीचे आ गई है। द्रोणिका नीचे आने से नागपुर समेत विदर्भ में बारिश का माहौल बन गया है। द्रोणिका पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश से होकर जाने के कारण  इसका असर नागपुर समेत विदर्भ क्षेत्र में हो गया है। दो दिन से नागपुर व पूर्व विदर्भ में बारिश हो रही है। अगले 2-3 दिनों तक इसी तरह बारिश होने के आसार हैं। नागपुर में मूसलाधार बारिश की संभावना कम है, लेकिन जितनी बारिश होगी, उससे जमीन की गर्मी जरूर कम हो जाएगी।  

पूर्व विदर्भ में ज्यादा बारिश

बारिश का ज्यादा असर पूर्व विदर्भ के भंडारा, गोंदिया, गड़चिरोली, वर्धा व चंद्रपुर जिले में दिखाई देगा। किसानों को इस बारिश ने बहुत राहत पहुंचाई है। बुआई के बाद खड़ी फसल बर्बाद होने की कगार पर पहुंच गई थी। जिले में 20.6 मिमी बारिश दर्ज की गई। अगले दो-तीन दिन तक होनेवाली बारिश फसल के लिए लाभदायक रहेगी। विदर्भ में सबसे ज्यादा बुलढ़ाणा में 43 मिमी व सबसे कम यवतमाल में 3.6 मिमी बारिश दर्ज की गई। 

6 विमान पहुंचे लेट

शनिवार को मुंबई का मौसम खराब होने के कारण मुंबई से उड़ान भरने वाले कई विमान घंटों देरी से उड़ान भर सके। इसके चलते मुंबई से नागपुर आने वाले 6 विमानों में देरी दर्ज की गई। जानकारी के अनुसार मुंबई से आने वाला गो एयर का विमान क्रमांक 2609 अपने तय समय सुबह 8.15 बजे से करीब 1.30 घंटा देरी से, मुंबई से आने वाला एयर इंडिया विमान क्रमांक 2813 अपने तय समय सुबह 10.15 बजे से करीब 1 घंटा देरी से, मुंबई से आने वाला इंडिगो का विमान क्रमांक 5388 तय समय दोपहर 1.15 बजे से करीब आधा घंटा देरी से, मुंबई से आने वाला इंडिगो का विमान क्रमांक 403 तय समय शाम 5.25 बजे से करीब 1 घंटा देरी से नागपुर के डॉ. बाबासाहब अंतरराष्ट्रीय विमानतल पर पहुंचा। वहीं मुंबई से आने वाला एयर इंडिया का विमान क्रमांक 629 रात 8.35 बजे से करीब 2 घंटे देरी से और मुंबई से आने वाला इंडिगो का विमान क्रमांक 5377 रात 10.20 बजे न पहुंचकर देर रात नागपुर विमानतल पर पहुंचने की संभावना जताई जा रही थी।

गोंदिया-बरौनी-गोंदिया एक्स. को मिला अतिरिक्त स्थाई कोच

उधर रेलवे प्रशासन द्वारा गाड़ियों में यात्रियों की होने वाली अतिरिक्त भीड़ को ध्यान में रखते हुए गाड़ी संख्या 15231/15232 गोंदिया-बरौनी-गोंदिया एक्सप्रेस में एक एसी-3 अतिरिक्त कोच की सुविधा स्थाई रूप से बढ़ाई जा रही है। यह स्थाई अतिरिक्त कोच की सुविधा बरौनी 28 जुलाई से और गोंदिया 29 जुलाई से उपलब्ध रहेगी।

बारिश में बार-बार गुल हो रही बिजली

बारिश हुई नहीं कि, शहर में बिजली गुल होना शुरू हो गया है। पश्चिम नागपुर के अनेक इलाकों में पिछले कुछ दिनों से बिना कोई सूचना दिए लगातार बिजली गुल होना जारी है। शनिवार को भी कुछ इलाकों में करीब 3 घंटे तक बिजली बंद रही, लेकिन एसएनडीएल कार्यालय में कर्मचारियों का अभाव होने से इसे सुधारने में घटों लग रहे हैं। इससे पहले गुरुवार, शुक्रवार को भी प्रभाग-12 गिट्टीखदान अंतर्गत भीम टेकड़ी, दीपक नगर, विश्वास नगर, सुरेंद्रगढ़, मकरधोकड़ा, केजीएन सोसायटी सहित अनेक इलाके करीब 18 घंटे तक अंधेरे में डूबे रहने का दावा किया गया है। शिकायत है कि, इसे लेकर जब सेमिनरी हिल्स स्थित एसएनडीएल बिजली कार्यालय में नागरिकों ने फोन पर शिकायत करने के लिए संपर्क किया, तो कोई ऑपरेटर फोन रिसीव नहीं कर रहा था। एसएनडीएल के बड़े अधिकारियों से संपर्क करने की कोशिश की गई, तो उनसे भी कोई प्रतिसाद नहीं मिला। विभाग से कोई प्रतिसाद नहीं मिलने पर स्थानीय नागरिकों ने पश्चिम नागपुर कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष रिजवान खान रुमवी को इसकी सूचना दी। रुमवी अपने समर्थकों के साथ एसएनडीएल कार्यालय पहुंचे, लेकिन वहां भी कोई जिम्मेदार अधिकारी नहीं मिला। रिजवान खान ने बताया कि, कोई ग्राहक समय पर बिजली बिल नहीं भरता है, तो तुरंत उसके घर की बिजली काट दी जाती है, लेकिन किसी कारणवश बिजली गुल हो जाए, तो सुधारने में घंटों लग जाते हैं। बिजली कार्यालय में कर्मचारियों का अभाव है। हालांकि बारिश में आपातकालीन परिस्थिति से निपटने ज्यादा कर्मचारी होने चाहिए। इससे पहले रुमवी ने एसएनडीएल के ऑपरेशन मेंटेनंस हेड प्रकाश चंदन को निवेदन देकर कर्मचारी बढ़ाने की मांग की थी। आश्वासन मिला था कि, कर्मचारी बढ़ाएंगे, लेकिन अभी तक कर्मचारियों की संख्या नहीं बढ़ाई गई। रिजवान खान ने चेतावनी दी कि, शीघ्र एसएनडीएल कार्यालय में कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई नहीं गई तो तीव्र आंदोलन किया जाएगा।
 

कमेंट करें
I42CE