comScore

मंदिर-मंदिर, घर-घर में उतरी अयोध्या की झाँकी,  श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमि-पूजन शुभारंभ पर राममय हुई संस्कारधानी

मंदिर-मंदिर, घर-घर में उतरी अयोध्या की झाँकी,  श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमि-पूजन शुभारंभ पर राममय हुई संस्कारधानी

डिजिटल डेस्क जबलपुर । दशरथ नंदन भगवान श्री राम जी का जबलपुर संस्कारधानी से आध्यात्मिक लगाव रहा है। नर्मदा पुराण, शिव पुराण में नर्मदा तट पधारने का उल्लेख  है। जबलपुर जाबलि ऋषि की तपोभूमि है और जाबलि ऋषि महाराज दशरथ जी के राज दरबार में वैदिक सलाहकार परिषद में रहे। 
इसी प्रकार नर्मदा पुराण के अनुसार गुप्तेश्वर महादेव मंदिर रामेश्वरम महादेव का उपलिंग अधिदैव महादेव विराजमान है। इसका महत्व इसलिए है क्योंकि भगवान श्री राम ने स्वयं रामेश्वरम् महादेव की स्थापना की थी। अयोध्या श्री राम जन्म भूमि में ऐतिहासिक श्रीराम मंदिर निर्माण का भूमि-पूजन हो रहा है। पूरा देश राममय हो रहा है। शहर के श्रीराम मंदिरों त्रेता युग में जिस तरह भगवान वनवास के बाद अयोध्या लौटे थे वैसे ही भगवान की भक्ति में श्रद्धालु सराबोर हो गए हैं। भक्तों में भारी उत्साह है। मंदिरों के साथ-साथ घरों में भी सुंदरकाण्ड पाठ, हनुमान चालीसा, श्री सीता राम संकीर्तन, दीपोत्सव जैसे आयोजन होंगे। 
दीक्षितपुरा श्रीराम मंदिर 
शहर के प्राचीन समृद्ध ऐतिहासिक महत्व का श्री राम मंदिर दीक्षितपुरा में मराठा कालीन है। यह मंदिर शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती महाराज से जुड़ा हुआ है। चूँकि महाराज जी श्री राम मंदिर न्यास के ट्रस्टी हैं इसलिए इसका विशेष महत्व बढ़ गया है। मंदिर के पुजारी अंकुर बाजपेयी ने बताया कि 5 अगस्त की सुबह सुंदरकाण्ड पाठ, शाम को 7.30 बजे  सीताराम धुन, आरती के बाद  दीपोत्सव होगा। 
श्री राम मंदिर मदन महल में आरती एवं सुंदरकाण्ड पाठ 
अयोध्या में 5 अगस्त को होने वाले श्री राम मंदिर भूमि-पूजन के पूर्व श्री राम मंदिर मदन महल गुप्तेश्वर रोड पर इस दिन दोपहर 12 बजे आरती एवं घंटानाद, शंखनाद होगा, शाम को सुंदरकाण्ड का पाठ होगा। भक्त जन अपने घरों में ही  सायं काल में 5 बजे से सुंदर कांड पाठ  व दीप प्रज्ज्वलित कर खुशियाँ मनाएँगे। मंदिर में विद्युत साज-सज्जा की गई है। दो दिन भक्ति के कार्यक्रम होंगे। 
हनुमान बाग गढ़ा बजरिया 
मंदिर में भगवान श्री राम, माता सीता, भ्राता लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न, ब्रह्मा, विष्णु, महेश और भव्य श्री राम दरबार विराजमान है।  मंदिर में पं. बृजेश महाराज ने बताया कि उत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। 1008 दीपक जलाये जायेंगे साथ ही भगवान का भव्य शृंगार किया जायेगा।
श्री राम मंदिर जीसीएफ - बड़े आयोजन नहीं होंगे पर 5 अगस्त की शाम को भगवान की आरती के बाद दीपोत्सव का आयोजन किया जाएगा।
 

कमेंट करें
5C4d7