दैनिक भास्कर हिंदी: ट्रॉली को ट्रक्कर मारने के बाद, बेकाबू होकर घर में घुसा ट्रेलर, 2 लोगों को रौंदा, 4 घायल

June 30th, 2018

डिजिेटल डेस्क, सतना। राष्ट्रीय राजमार्ग 7 पर झुकेही में मौत बनकर दौड़ा ट्रेलर-ट्रक एक ट्रॉली को टक्कर मारकर चालक समेत दो लोगों को रौंदते हुए सड़क किनारे बने घर में जा घुसा। इस दुर्घटना में 4 मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए, वहीं घर के बाहर बैठे 5 अन्य व्यक्तियों को एक बच्चे की सूझबूझ ने बचा लिया।

अमदरा पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पनहा निवासी विष्णु चौधरी पुत्र मुन्नालाल 30 वर्ष ट्रैक्टर-ट्रॉली में मजदूर धनकू कोल पुत्र राधे 22 वर्ष समेत 6 लोगों को लेकर गुरूवार दोपहर को अमदरा की तरफ आ रहा था। इस दौरान लगभग 12 बजे पीछे से आए ट्रेलर एमएच 40 एन 3613 के चालक ने लापरवाही पूर्वक ट्रॉली को टक्कर मार दी, जिससे ट्रॉली के किनारे पर बैठा धनकू उछलकर नीचे गिरा और पलक झपकते ही ट्रेलर के नीचे आ गया। उधर संतुलन बिगड़ने से चालक विष्णु भी सड़क पर गिर पड़ा। वह उठने की कोशिश कर ही रहा था कि बेकाबू ट्रेलर ने उसे भी चपेट में ले लिया और लहराते हुए सड़क किनारे बने गुड्डा शिवहरे के घर में जा घुसा। हादसे के दौरान ट्रॉली में सवार मजदूर सुखदेव कोल, विजय कोल, राहुल कोल और गोलू कोल को गंभीर चोटें आईं। जिनको ऑटो से ही कटनी जिला अस्पताल रवाना कर दिया गया।

बालक ने बचाई 5 की जान
दो लोगों को रौंदने के बाद भी ट्रेलर के पहिए नहीं थमे। बल्कि लहराते हुए मुन्ना शिवहरे के घर की तरफ बढ़ा, जहां बरामदे के नीचे 10 वर्षीय बालक समेत 6 लोग बैठे थे। पांच व्यक्ति आपस में बात कर रहे थे, जबकि लड़का खेल रहा था। सबसे पहले उसने ही ट्रेलर को घर की तरफ आते देखा तो शोर मचाकर लोगों को सतर्क कर दिया। उसकी आवाज सुनकर पांचों व्यक्ति दौड़कर अंदर घुस गए, ठीक इसी समय ट्रेलर घर की दीवार से टकरा गया जिससे सामने का हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया, पर गनीमत रही कि और जानें नहीं गईं।

भड़के लोगों ने जाम किया नेशनल हाईवे
इस दुर्घटना से मौके पर अफरा-तफरी मच गई। कुछ मिनट के लिए तो भगदड़ जैसी स्थिति बन गई थी। हालांकि झुकेही चौकी प्रभारी तुरंत ही वहां पहुंच गए, लेकिन दो लोगों की मौत, 4 व्यक्तियों के घायल होने और 5 की जान खतरे में पड़ने से नाराज स्थानीय रहवासियों ने आक्रोशित होकर राष्ट्रीय राजमार्ग 7 पर जाम लगा दिया। चौकी प्रभारी ने काफी कोशिश की पर समझाइश का कोई असर नहीं हुआ तो उन्होंने थाना प्रभारी कपूर त्रिपाठी समेत वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया। फिर भी जाम खुलवाने में 3 घंटे से ज्यादा समय लग गया।

इस दौरान नेशनल हाईवे पर वाहनों की लंबी कतार लग गई, जिनमें ट्रक-ट्रेलर के अलावा बस, टैक्सी, एम्बुलेंस भी शामिल थे। गाड़ियों में सवार लोग खाना व पानी के लिए खासे परेशान रहे। आरोपी ट्रेलर चालक के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही व हादसों में कमी लाने के लिए ठोस प्रयास का आश्वासन मिलने पर मृतक के परिजन और क्षेत्रीय लोगो का गुस्सा शांत हुआ, तब जाकर दोनों शव उठवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजे गए। बताया गया है कि ट्रेलर में रेल विद्युतीकरण में इस्तेमाल होने वाले लोहे के खंभे लदे थे।