विश्व मस्तिष्क दिवस: मस्तिष्क को स्वस्थ रखना जरूरी, नशा करने से होता है नुक्सान

July 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर. मस्तिष्क को निरोगी रखने के लिए नियमित व्यायाम, पूरी नींद, पोषक आहार, शुद्ध हवा समेत अन्य नियमों का पालन जरूरी है। रक्तदाब, मधुमेह, वजन, तनाव आदि पर नियंत्रण होना चाहिए। अल्कोहल, तंबाकू, धूम्रपान, रैश ड्राइविंग, नशाखोरी आदि से मस्तिष्क को हानि पहुंचती है। ऐसा मस्तिष्क रोग विशेषज्ञ डॉ. चंद्रशेखर मेश्राम ने बताया।  दुनियाभर में मस्तिष्क विकार दिव्यांगता का प्रमुख कारण बना है, वहीं मृत्यु का दूसरा प्रमुख कारण भी मस्तिष्क विकार होता है। ऐसा दुनियाभर के विशेषज्ञ बताते हैं, इसलिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति में मस्तिष्क विकार को प्राथमिकता देना जरूरी है। मस्तिष्क विकार दिखने पर उसकी समय पर जांच व उपचार करना जरूरी है। मस्तिष्क शरीर का नाजुक अंग होता है। उसमें 100 अरब न्यूरॉन्स और 10 ट्रीलियन कनेक्शन होते हैं। इन्हें सायनैप्स कहा जाता है। इनके कारण हम शारीरिक दिनचर्या और विचारों पर मंथन कर उन पर अमल कर सकते हैं। 

वेबिनार का आयोजन : मस्तिष्क और न्यूरोलॉजिकल बीमारी पर जागरुकता के लिए हर साल 22 जुलाई को वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ न्यूरोलॉजी की तरफ से विश्व मस्तिष्क दिवस आयोजित किया जाता है। इस उपक्रम में इंडियन एकेडमी ऑफ न्यूरोलॉजी भी सक्रिय होने जा रही है। अकादमी के अध्यक्ष डॉ. निर्मल सूर्या और मुख्य समन्वयक डॉ. चंद्रशेखर मेश्राम ने सप्ताहभर देशभर में 100 उपक्रमों का आयोजन किया है। इस दौरान हर रोज 6.30 से 8 बजे तक वेबिनार का आयोजन होगा। 24 जुलाई को सुबह 7 बजे डॉ. आंबेडकर महाविद्यालय के क्रीड़ा एकेडमी के मैदान पर वॉकथान वॉक फॉर यूवर ब्रेन का अायोजन किया गया है।