comScore

कोरोनावायरस: अनिल कुंबले और वीवीएस लक्ष्मण को इस साल IPL होने की उम्मीद

कोरोनावायरस: अनिल कुंबले और वीवीएस लक्ष्मण को इस साल IPL होने की उम्मीद

हाईलाइट

  • भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी अनिल कुंबले और वीवीएस लक्ष्मण को इस साल IPL होने की उम्मीद
  • IPL की शुरुआत 29 मार्च से होनी थी, लेकिन कोरोनावायरस के कारण इसे अनिश्चितकाल तक के लिए टाल दिया गया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के दो पूर्व खिलाड़ी अनिल कुंबले और वीवीएस. लक्ष्मण को उम्मीद है कि, इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13वें सीजन का आयोजन किया जा सकेगा। भले ही यह टूर्नामेंट खाली स्टेडियम में बिना दर्शकों के ही क्यों न हो। IPL की शुरुआत 29 मार्च से होनी थी, लेकिन कोरोनावायरस के कारण इसे अनिश्चितकाल तक के लिए टाल दिया गया है।

ICC की क्रिकेट समिति के चेयरमैन कुंबले ने स्टार स्पोटर्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में बात करते हुए कहा, हां हमें उम्मीद है और हम इसे लेकर सकारात्मक हैं कि अगर हम कार्यक्रम के बीच में इसके लिए जगह बनाएं तो इसकी संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा, अगर हम खाली स्टेडियमों में खेलेंगे तो 3-4 मैच स्थल काफी हैं, अभी भी संभावना है और, हम सभी सकारात्मक हैं।

इसी साल अक्टबूर-नवंबर में टी-20 विश्व कप होना है, लेकिन कोरोनावायरस के कारण इस पर भी काले बादल मंडरा रहे हैं और ऐसी संभावना है कि यह स्थगित हो सकता है। BCCI इसी कारण सितंबर के आखिरी सप्ताह और नवंबर की शुरुआत के बीच IPL कराने पर विचार कर रही है।

ऐसा स्थल होना चाहिए जहां तीन-चार मैदान हों
वहीं लक्ष्मण ने कहा कि, ऐसा स्थल देखना होगा जहां तीन-चार मैदान हों ताकि खिलाड़ियों को ज्यादा सफर नहीं करना पड़े। उन्होंने कहा, साथ ही इस बात को सुनिश्चित करना होगा कि, सभी हितधारक इस पर अपनी राय रखें। मुझे लगता है कि, एक ऐसा स्थल होना चाहिए जहां तीन-चार मैदान हों, क्योंकि सफर करना एक बार फिर काफी चुनौतीपूर्ण रहेगा। आप नहीं जानते कि एयरपोर्ट पर कौन कहां जा रहा है। मुझे भरोसा है कि फ्रेंचाइजियां और BCCI इस पर ध्यान रख रही होगी।

कमेंट करें
0S3QD
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।