मलिक : पाकिस्तान टीम में पहले चयन न होने पर दुखी था, लेकिन अब खुश हूं

November 8th, 2021

हाईलाइट

  • मलिक ने स्कॉटलैंड के खिलाफ अपनी आखिरी सुपर 12 मैच में 18 गेंदों में नाबाद 54 रनों की पारी खेली

डिजिटल डेस्क, शारजाह। टी20 विश्व कप में पाकिस्तान के दिग्गज खिलाड़ी शोएब मलिक का अब तक शानदार प्रदर्शन रहा, लेकिन जब उन्हें पहली बार वेस्टइंडीज में यह खबर मिली कि उन्हें टूर्नामेंट के लिए पाकिस्तान टीम में नहीं चयन किया गया, तो वे निराश हो गए थे और उन्होंने सोचा था कि यह मेरे करियर का अंत है।

हालांकि, बाद में चीजें बदली और अनुभवी बल्लेबाज सोहेब मकसूद को चोट के कारण बाहर किए जाने के बाद इस दिग्गज खिलाड़ी को पाकिस्तान टीम में शामिल किया गया। उनका टीम से जुड़ना उनकी किस्मत में था। मलिक ने 2009 में टी20 विश्व के सेमीफाइनल में जगह बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, जिससे पाकिस्तान बाद में चैंपियन बना।

वहीं, इस वर्ल्ड कप में जिस तरह के फॉर्म में चल रहे हैं, 11 नवंबर को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले मैच में अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है। इस टूर्नामेंट में निर्णायक क्षण तब आया जब उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ नाबाद 20 गेंदों में 26 रनों की पारी खेलकर पाकिस्तान को एक करीबी मुकाबले में अहम जीत दिलाई, जिसने ग्रुप 2 में शीर्ष पर पहुंचा दिया।

मलिक ने स्कॉटलैंड के खिलाफ अपनी आखिरी सुपर 12 मैच में 18 गेंदों में नाबाद 54 रनों की पारी खेली, जिससे पता चलता है कि वह सेमीफाइनल मुकाबले के लिए अच्छे फॉर्म में है। 39 साल के खिलाड़ी को उनके घरेलू फॉर्म के आधार पर टीम में शामिल किया गया था, जहां उन्होंने राष्ट्रीय टी20 टूर्नामेंट में सात मैचों में 225 रन बनाए थे।

2015 में टेस्ट क्रिकेट और 2017 में वनडे क्रिकेट छोड़ने के बाद, मलिक ने कहा था कि अगर वह टी20 विश्व कप के लिए चुने जाते है तो इसके बाद संयास लेना चाहेंगे। उन्होंने कहा, मैं कैरेबियन प्रीमियर लीग में खेल रहा था जब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने पहली टीम की घोषणा की, जिसमें मेरा नाम नहीं था। बेशक मुझे बुरा लगा। मैं बहुत निराश हुआ। लेकिन मैंने बहुत सी टीमों को देखा है जहां मेरा नाम नहीं था, इसलिए जब आप विश्व कप टीम का हिस्सा नहीं होते तो दुख होता है।

मलिक ने स्कॉटलैंड से जीतने के बाद कहा, एक पेशेवर क्रिकेटर या एथलीट के रूप में आपका लक्ष्य खुद को किसी भी तरह के निराशा से बाहर निकलना होता है। उस समय मैं सीपीएल में खेल रहा था। इसलिए मुझे इससे बाहर आने का मौका मिला और फिर मैं जब वापस आया तो एक घरेलू टूर्नामेंट में हिस्सा लिया क्योंकि मुझे अभी भी मैदान पर उतरने में आनंद मिलता है और यही मुझे आगे बढ़ाता है।

मलिक ने इस सवाल को छोड़ दिया कि उनका कब तक खेलते रहने की योजना है, यह कहते हुए कि टीम द्वारा मध्यक्रम में एक महत्वपूर्ण काम किया जा रहा था। मैं नहीं जानता कि और कितने सालों तक खेलूंगा। अभी मैं एक बहुत ही महत्वपूर्ण टूर्नामेंट के बीच में हूं और फिलहाल उन सबके बारे में नहीं सोच रहा हूं। कुल मिलाकर ड्रेसिंग रूम में माहौल अच्छा है। आगे हमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देते रहने की जरूरत है।

आईएएनएस