comScore

नागपंचमी पर राशि के अनुसार करें राहु के अचूक उपाय  

August 15th, 2018 00:37 IST

डिजिटल डेस्क, भोपाल। श्रावण माह की शुक्ल पक्ष में आने वाली पंचमी को नाग पंचमी कहते हैं। पंचमी को नाग का पूजन किया जाता है। पहले दिन भोजन बनाकर पंचमी के दिन बासी भोजन किया जाता है और चना भिगो दिया जाता है। इस दिन लकड़ी का पटला बिछाकर उस पर एक रस्सी में सात गांठ लगाकर उसे सर्प का प्रतीक रूप बनाकर और उस पर काला रंग करके उस पर कच्चा दूध, घी, शक्कर मिलाकर चढ़ाया जाता है। साथ ही इस प्रतीक का भीगे चने से भी पूजन किया जाता है। इस दिन मीठा दूध सर्प की बामी में भी डाला जाता है।

महिलाओं को इस दिन अपनी सास या अन्य अपने घर की बड़ी महिलाओं से आशीर्वाद प्राप्त करना चाहिए। नाग की बामी से लाई हुई मिट्टी में चने या गेंहूं के दाने बोएं। ऐसा करने से घर धन-धान्य से भरा रहता है। उत्तर भारत में कहीं-कहीं नाग पंचमी के दिन सर्पों को दूध पिलाने की परंपरा है। इस दिन घर के मुख्यद्वार पर मिट्टी की प्याली में दूध व चना डालकर रखा जाता है। ऐसी मान्यता है कि नागपंचमी के दिन नाग देवता की पूजा करने पर सर्पदंश जैसी विपत्तियों से छुटकारा मिलता है और मनोकामना भी पूर्ण होती है।

नागपंचमी के दिन नाग देवता की पूजा करने पर विपत्तियों से छुटकारा मिलता है। इस दिन आप कुंडली में स्थित राहु दोष से भी मुक्ति पा सकते हैं। इसके लिए आपको कुछ अनुकूल उपाय करना होंगे। जो हम आज आपको बताने जा रहे हैं। ये उपाय आपको नाग पंचमी के दिन अपनी राशि के अनुसार करना होंगे।

कमेंट करें
N09rn