दैनिक भास्कर हिंदी: कजरी तीज पर मां पार्वती से मिले थे 'शिव', अच्छे वर के लिए ऐसे करें पूजा

August 10th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भादों माह की 10 अगस्त गुरूवार को कजरी तीज है। इस दिन भगवान शिव और पार्वती का पूजन करने से सुहागिनों को पति की लंबी उम्र और कुंवारी कन्याओं को अच्छे वर का वरदान मिलता है। कजरी तीज को लेकर मान्यता है कि इसी दिन मां पार्वती ने भगवान शिव को अपनी कठोर तपस्या से प्राप्त किया था। यह त्यौहार कुंवारी कन्याओं और सुहागिन स्त्रियों के लिए अति आवश्यक है।  

अविवाहित कन्याओं को इस दिन उपवास रखकर गौरी की पूजा विशेष रूप से करनी चाहिए। ऐसा करने से कुंडली में कितने भी बाधक योग क्यों न होंए इस दिन की पूजा से नष्ट किये जा सकते हैं। 

पूजन विधि

- साज श्रंगार कर इस पूरे दिन उपवास रखना चाहिए। 

- सायं काल शिव मंदिर जाकर भगवान शिव और मां पार्वती की उपासना करनी चाहिए। घर में भी विधि-विधान से पूजन किया जा सकता है।

- पूजन करते वक्त मां पार्वती और भगवान शिव के मन्त्रों का जाप करें। इससे वे प्रसन्न होंगे और मनचाहा वर देंगे। 

- पूजा खत्म होने के बाद किसी सौभाग्यवती स्त्री को सुहाग की वस्तुएं दान करें। ये अतिशुभ बताया गया है। 

- कजली तीज के दिन काले और सफेद वस्त्रों का प्रयोग वर्जित हैए हरा और लाल रंग शुभ माना गया है। पूजन के दौरान भी इन्हीं वस्त्रों को धारण करें।