नवमी: कैसा रहेगा अगला साल ? देवी मां का प्रस्थान वाहन हाथी देता है ये संकेत

October 14th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली।  शारदीय नवरात्रि के नौ दिन आज पूर्ण हो रहे हैं। माता की विदाई की घड़ी नजदीक है, अब माता वापस से कैलाश पर्वत की ओर प्रस्थान करेंगी। माता के प्रस्थान के साथ ही विधि पूर्वक विशाल दुर्गा उत्सव का भी समापन होगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मां दुर्गा इस बार उनके पांच वाहन में से पालकी से आई थी और हाथी से प्रस्थान करेंगी। मां के आगमन के वाहन पालकी को शुभ संकेत नहीं माना गया है। लेकिन हाथी के वाहन को आने वाले वर्ष के लिए कैसा माना गया है इस पर हम विस्तार से चर्चा करेंगे। 

Goddess Durga will be arrive on elephant in this Navratra

माता के आगमन और प्रस्थान के वाहन धरती पर होने वाले शुभ और अशुभ घटना के बारे में बताते हैं। कहा जाता है कि अगर मां का आगमन और प्रस्थान एक ही वाहन से हो तो यह शुभ संकेत नहीं माना जाता। इससे उथल-पुथल, प्राकृतिक आपदाओं, युद्धों और सामाजिक अशांति की संभावना बनती है। लेकिन माता का आगमन और प्रस्थान दोनों अलग अलग वाहन से हुआ है। मां के आगमन के वाहन पालकी को बेशक अशुभ माना गया था तथा देवी मां के पालकी में आने के विषय ने लोगों को चिंता में डाल दिया था। माता का पालकी में आना राजनीतिक उथल-पुथल की स्थिति को दर्शाता है। पर माता के प्रस्थान के वाहन हाथी ने लोगों के मन से कुछ अनुचित होने का भय खत्म कर दिया। 

हाथी की मेहरबानी बना सकती है रातों-रात धन कुबेर के समान धनवान - elephant

माता के प्रस्थान का वाहन गज यानी हाथी मंगलमय जीवन का संकेत देता है। यह शांती और समृद्धि का प्रतिक है। हाथी पर मां दुर्गा के आगमन या प्रस्थान का अर्थ है कि माता आपके जीवन को अच्छे कर्म, आशिर्वाद, प्रेम और खुशियों से भर देंगी। देवी मां का हाथी पर सवार होकर प्रस्थान करना उत्तम वर्ष का संकेत है।