दैनिक भास्कर हिंदी: नरसिंह जयंती 2021: इस पूजा से मिलेगी हर प्रकार के संकटोंं से मुक्ति, जानें विधि और मुहूर्त

May 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को नरसिंह जयंती मनाई जाती है, जो कि इस वर्ष 25 मई मंगलवार को है। नरसिंह जयंती का हिन्दू धर्म में अत्यधिक महत्व है। इस दिन को नृसिंह चतुर्दशी के रूप में भी जाना जाता है। नरसिंह चतुर्दशी भगवान और भक्त के बीच पवित्र रिश्ते का दर्शाता है। पुराणों के अनुसार इस दिन भगवान विष्णु आधा नर और आधा शेर यानी नरसिंह अवतार में प्रकट हुए थे। भगवान नृसिंह श्रीहर‍ि के चौथे अवतार माने जाते हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अनुसार प्रथमपूज्य गणेश जी, हनुमानजी, देवी लक्ष्मी की तरह नृसिंह भगवान की भी तुला राशि थी। नरसिंह चतुर्थी की पूजा से निःसंतान को उत्तम संतान की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि भगवान नरसिंह के दिन उनकी पूजा और व्रत रखने से सभी दुख और दर्द दूर हो जाते हैं। क्योंकि जिस प्रकार उन्होंने भक्त प्रहलाद की हमेशा रक्षा की, ठीक उसी प्रकार भगवान नरसिंह किसी पर भी कष्ट नहीं आने देते। आइए जानते हैं इस दिन कैसे करें पूजा और क्या है शुभ मुहूर्त...

मई 2021: इस माह में आएंगे ये महत्वपूर्ण व्रत और त्यौहार, देखें पूरी लिस्ट

शुभ मुहूर्त
पूजा का समय आरंभ: दोपहर 4 बजकर 26 मिनट से 
पूजा का समय समापन: शाम 7 बजकर 11 मिनट तक   
पूजा की अवधि: 2 घंटे 45 मिनट 

व्रत और पूजा विधि
- इस दिन सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नानादि के बाद स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
- इसके बाद व्रत का संकल्प लें।
- घर के मंदिर में दीपक प्रज्वलित करें।
-  भगवान नरसिंह को पुष्प अर्पित करें।
- भगवान नरसिंह और लक्ष्मीजी की मूर्ति या चित्र स्थापित करें।

इस साल नहीं होगी चार धाम यात्रा, जानें कारण

- अब विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना करनी चाहिए
- भगवान नरसिंह की पूजा के लिए फल, पुष्प, पंचमेवा, कुमकुम, केसर, नारियल, अक्षत व पीताम्बर रखें। 
- गंगाजल, काले तिल, पंच गव्य व हवन सामग्री का पूजन में उपयोग करें।
- पूजा के बाद एकांत में कुश के आसन पर बैठकर रुद्राक्ष की माला से नरसिंह भगवान के मंत्र का जप करें।