comScore

आषाढ़ी एकादशी के उपलक्ष्य में शिवनेरी बस से पंढरपुर पहुंचाई जाएंगी पादुकाएं

आषाढ़ी एकादशी के उपलक्ष्य में शिवनेरी बस से पंढरपुर पहुंचाई जाएंगी पादुकाएं

डिजिटल डेस्क, पुणे। आषाढ़ी एकादशी के उपलक्ष्य में संत ज्ञानेश्वर तथा संत तुकाराम महाराज की पादुकाएं शिवनेरी बस से पंढरपुर पहुंचाई जाएगी। महज 20 लोग ही पादुकाएं ले जा सकेंगे ऐसा आदेश राज्य सरकार ने दिया है।  बता दें कि कोरोना विषाणु के बढ़ते संक्रमण के चलते इस साल पैदल पालकी यात्रा रद्द की गई लेकिन संत ज्ञानेश्वर महाराज और संत तुकाराम महाराज की पादुकाएं पंढरपुर ले जाने की परंपरा अखंडित रहे इस हेतु राज्य सरकार ने पादुकाओं को पंढरपुर पहुंचाने की जिम्मेदारी स्वीकारी। उस अनुसार अब शिवनेरी बस से पादुकाएं पंढरपुर पहुंचाने का और वापस लाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए जिलाधिकारी नवल किशोर राम ने कुछ शर्ते लागू की है।  

शर्तों के अनुसार 30 जून दशमी को दोनों संतों की पादुकाएं पारंपारिक मार्ग से ही जाएंगी। इन दोनों संतों के अलावा संत सोपानदेव, चांगावटेश्वर देवस्थान की पादुकाओं को भी पंढरपुर ले जाने के लिए मंजूरी दे दी गई है। बस में महज 20 लोगों को ही मंजूरी दी गई है। इन 20 लोगों की आयु 60 से कम होनी चाहिए और उनको किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं चाहिए। इन लोगों की कोरोना की टेस्ट की जाएगी। कड़े पुलिस बंदोबस्त में बस रवाना होगी। इसकी जिम्मेदारी उपजिलाधिकारी तथा तहसीलदार पर सौंपी गई है। पुणे से पंढरपुर यात्रा के दौरान बस कहीं पर भी रोकी नहीं जाएगी।    

कमेंट करें
Rl5Um