दैनिक भास्कर हिंदी: तिथि में फेर, इस बार तीन दिन मनाई जाएगी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

August 11th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। तिथि में फेर के चलते इस वर्ष कृष्ण जन्माष्टमी तीन दिन मनाई जाएगी।  14, 15 और 16 अगस्त को बने योग की वजह से जन्माष्टमी का संयोग तीन दिनों तक रहेगा। इसमें 14 को तिथि आगमन होने और 15 को सूर्योदय तिथि व 16 को रोहिणी तिथि होगी।

ज्योतिष गणना के अनुसार 14 अगस्त की शाम 5.38 बजे से अष्टमी का आगमन होगा जो 15 अगस्त की शाम तक रहेगा। इस वजह से जो लोग तिथि की गणना मानते हैं वे 14 अगस्त को जन्मोत्सव मनाएंगे।

वहीं दूसरे दिन अष्टमी की तिथि रात को नहीं मिल रही है। इसके साथ ही रोहिणी नक्षत्र भी नहीं मिल रहा है लेकिन सूर्योदय तिथि होने की वजह से 15 अगस्त को भगवान का जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

मध्य रात्रि रोहिणी नक्षत्र का योग

मान्यता है कि व्रत सूर्योदय तिथि में करना चाहिए। भद्रपद की अष्टमी सूर्योदय तिथि है लेकिन रोहिणी नक्षत्र नहीं है। इसके बाद भी 15 को ही जन्मोत्सव मनाना श्रेष्ठ रहेगा। 16 अगस्त की मध्य रात्रि रोहिणी नक्षत्र का योग बन रहा है।

16 अगस्त को जन्मोत्सव का पर्व

इस वजह से नक्षत्र की गणना मानने वाले 16 अगस्त को जन्मोत्सव का पर्व मनाएंगे। इस तरह से तीन दिनों तक भगवान के जन्मोत्सव का संयोग बन रहा है। 

अष्टमी तिथि 15 अगस्त तक

14 अगस्त की शाम 5.40 बजे तक सप्तमी तिथि रहेगी। इसके बाद अष्टमी की तिथि आगमन होगा और अष्टमी तिथि दूसरे दिन 15 अगस्त तक रहेगी। इस वजह से तिथि की गणना वाले 14 अगस्त को और सूर्योदय तिथि मानने वाले 15 अगस्त को पर्व मनाएंगे।