नई दिल्ली: जेईई के टॉप 100 छात्रों में से एक तिहाई की पहली पसंद है आईआईटी दिल्ली

November 27th, 2022

हाईलाइट

  • आईआईटी मद्रास भी दिल्ली की ही तरह जेईई एग्जाम टॉप करने वाले छात्रों की पसंद बना हुआ है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आईआईटी में दाखिला लेने के इच्छुक छात्र जेईई का शेड्यूल जारी होने का इंतजार कर रहे हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के मुताबिक अगले सप्ताह तक इंजीनियरिंग के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा। पिछले वर्ष के जेईई एडवांस्ड के आधार पर हुए दाखिलों को देखें तो छात्रों की पहली पसंद आईआईटी दिल्ली, आईआईटी मुंबई और आईआईटी मद्रास जैसे संस्थान बने हुए हैं। यह आंकड़े बताते हैं कि जेईई एडवांस्ड में टॉप करने वाले पहले 100 छात्रों में से एक तिहाई की पसंद आईआईटी दिल्ली है।

आईआईटी दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर रंगन बनर्जी ने आईएएनएस को बताया कि जेईई मेंस के टॉप 100 छात्रों में से 28 छात्रों ने आईआईटी दिल्ली में एडमिशन लिया। वहीं यदि पूरे देश के टॉप 500 छात्रों की बात की जाए तो इनमें से 127 छात्रों ने आईआईटी दिल्ली को अपनी उच्च शिक्षा के लिए चुना।

प्रोफेसर रंगन बनर्जी के मुताबिक इसी तरह देशभर के टॉप 1000 छात्रों में से 211 छात्र आगे की पढ़ाई के लिए आईआईटी दिल्ली के साथ जुड़े है। आईआईटी दिल्ली इस बार 12 सौ से अधिक अंडरग्रेजुएट, 800 पोस्टग्रेजुएट और 600 से अधिक पीएचडी कि दाखिले स्वीकृत करेगा।

आईआईटी मद्रास भी दिल्ली की ही तरह जेईई एग्जाम टॉप करने वाले छात्रों की पसंद बना हुआ है। आईआईटी दिल्ली और चेन्नई दोनों के ही प्रति छात्रों के बढ़ते इस आकर्षण का कारण यहां मिलने वाला केंपस प्लेसमेंट भी है।

आईआईटी चेन्नई ने आईएएनएस को बताया कि उनके यहां विद्यार्थियों का इस शैक्षणिक वर्ष प्री-प्लेसमेंट में बेहतरीन प्रदर्शन रहा है। वर्ष 2022-23 में उन्हें काफी अधिक संख्या में ऑफर मिले हैं। संस्थान ने ऑफलाइन मोड में समर इंटर्नशिप का आयोजन किया।

नवंबर के दूसरे सप्ताह तक ही आईआईटी मद्रास के विद्यार्थियों को 333 प्री प्लेसमेंट ऑफर (पीपीओ) दिए गए हैं। यह पिछले पूरे साल 2021-22 के दौरान मिले 231 ऑफर से काफी अधिक हैं। आईआईटी मद्रास के छात्रों को बेहतरीन नौकरियों के प्री प्लेसमेंट ऑफर देने वाली वाली सर्वोपरि पांच कंपनियां हनीवेल, माइक्रोसॉफ्ट, गोल्डमैन सैक्स, टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स, ओरेकल हैं।

आईआईटी मद्रास के मुताबिक 1 दिसंबर 2022 से सुनिश्चित कैंपस प्लेसमेंट का पहला चरण शुरू होने तक पीपीओ मिलते रहेंगे।

आईआईटी मद्रास के छात्रों का कहना है कि पीपीओ में शानदार प्रदर्शन का बड़ा श्रेय संस्थान के दमदार इंटर्नशिप प्रोग्राम को जाता है। इससे विद्यार्थियों को कंपनियों में इंटर्न करने की सुविधा मिलती है और परिणामस्वरूप पीपीओ मिलते हैं। पीपीओ का लगातार बढ़ना इंटर्नशिप में संस्थान के विद्यार्थियों के उत्कृष्ट प्रदर्शन का परिणाम है।

इस साल पीपीओ में बड़ी बढ़ोतरी की वजहें बताते हुए आईआईटी मद्रास के सलाहकार (प्लेसमेंट) प्रोफेसर सत्यन ने कहा, इस साल पीपीओ में भारी बढ़ोतरी से हम खुश हैं। हम अधिक से अधिक कंपनियों को इंटर्नशिप के लिए प्रोत्साहित करते हैं क्योंकि इसमें लंबे साक्षात्कार से विद्यार्थियों का मूल्यांकन करना आसान और फिर पीपीओ देना लाभदायक होता है। पीपीओ देने और स्वीकार करने से किसी विद्यार्थी और कंपनी के बीच संबंध मजबूत होने की संभावना बढ़ती है।

आईआईटी दिल्ली के प्रति छात्रों के बढ़ते रुझान का एक बड़ा कारण भी इसके शानदार केंपस प्लेसमेंट रिकॉर्ड हैं। इस वर्ष आईआईटी दिल्ली ने भी कैंपस प्लेसमेंट में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। आईआईटी दिल्ली के छात्रों को शानदार पैकेज ऑफर करने वाली कंपनियों में अमेरिका इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया कोरिया जापान जैसे देशों की प्रतिष्ठित कंपनियां शामिल हैं।

आईआईटी दिल्ली का कहना है कि वह अपने पूर्व छात्रों की मदद से अपने वर्तमान छात्रों को स्टार्ट अप स्थापित करने में भी योगदान दे रहा है। इसके अलावा आईआईटी दिल्ली जल्द ही भारतीय संसद का नॉलेज पार्टनर भी बन सकता है। इसके तहत आईआईटी दिल्ली के विशेषज्ञ भारतीय सांसदों को 5जी टेक्नोलॉजी, कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी, प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन समेत आम लोगों से जुड़े कई विषयों पर महत्वपूर्ण जानकारियां नियमित तौर पर प्रदान करेंगे।

 

 (आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.