दैनिक भास्कर हिंदी: Controversy: तुर्की के राष्ट्रपति की पत्नी से मिलकर घिरे आमिर खान, सोशल मीडिया यूजर्स ने बताया भारत विरोधी

August 17th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान की तुर्की की फर्स्ट लेडी एमिन एर्दोगन के साथ फोटो सोशल मीडिया पर विवादों में घिर गई है। दरअसल, आमिर खान इन दिनों अपनी फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' के एक हिस्से की शूटिंग के लिए तुर्की में हैं। तुर्की के राष्ट्रपति जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के खिलाफ बयान दे चुके हैं और यही कारण है कि आमिर और तुर्की की प्रथम महिला की मुलाकात के चलते भारत के सोशल मीडिया यूजर्स में नाराजगी देखने को मिल रही है।

क्या कहा एमिन एर्दोगन ने?
तुर्की की फर्स्ट लेडी ने आमिर के साथ अपनी तस्वीरें ट्वीट करते हुए इस मुलाकात पर खुशी जताई। एमिन एर्दोगन ने लिखा, 'विश्वप्रसिद्ध अभिनेता, फिल्म निर्माता और निर्देशक आमिर खान से इस्तांबुल में मिलकर बहुत खुशी हुई। मैं यह जानकर बहुत खुश हूं कि आमिर ने अपनी ताजा फिल्म लाल सिंह चड्ढा की शूटिंग तुर्की के अलग-अलग हिस्सों में खत्म करने का फैसला किया है। मेरी इस पर नजर रहेगी।' इस ट्वीट के बाद आमिर खान को सोशल मीडिया पर कोई हिंदू विरोधी तो कोई उन्हें भारत विरोधी बता रहा है। लोगों उनकी फिल्मों और पिछले बयानों का हवाला देकर खूब निशाना साध रहे हैं।

 

 

इस वजह से सोशल मीडिया यूजर्स नाराज
लोग इस मामले को साल 2018 में इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के भारत दौरे से भी जोड़कर देख रहे हैं। दरअसल उस समय नेतन्याहू ने बॉलीवुड की कई हस्तियों से मुलाकात की थी लेकिन शाहरुख खान, आमिर खान और सलमान खान ने इस मुलाकात का हिस्सा बनने से मना कर दिया था। एक यूजर ने लिखा, भारत के मित्र देश इज़रायल के प्रधानमंत्री से मिलने के नाम पर आमिर खान कन्नी काट गए थे। पर भारत के शत्रु देश टर्की के राष्ट्रपति की पत्नी की मेज़बानी स्वीकार करने में उन्हें कोई हिचक नहीं हुई। एक अन्य यूजर ने लिखा, ये है आमिर खान। अन्हें भारत के मित्र राष्ट्र इजरायल के PM से मिलने से ऐतराज़ हो जाता है। पर भारत के शत्रु के साथ खड़े पाकिस्तानी मित्र तुर्की की प्रथम महिला के घर स्वयम भोजन पर जाता है।

2015 में  असहिष्णुता से जुड़े बयान पर घिरे थे आमिर
बता दें कि इससे पहले साल 2015 में आमिर खान ने असहिष्णुता से जुड़ा बयान दिया था, जिसके चलते वह विवादों में घिर गए थे। आमिर ने कहा था, 'मैं जब घर पर किरण के साथ बात करता हूं, वह कहती हैं कि 'क्या हमें भारत से बाहर चले जाना चाहिए?' किरण का यह बयान देना एक दुखद एवं बड़ा बयान है। उन्हें अपने बच्चे की चिंता है। उन्हें भय है कि हमारे आसपास कैसा माहौल होगा। उन्हें हर दिन अखबार खोलने में डर लगता है।' 

खबरें और भी हैं...